उत्तराखंड : सिर्फ सरकार की तरफ न झांके, अपने दायित्वों का निर्वहन करें! सोशल मीडिया पर तारीफ

पौड़ी गढ़वाल : उत्तराखंड में कई भायनक सड़क हादसे सड़कों पर जमे पाले के कारण हुए हैं. बीते दिनों ही नागुण-भवान-सुवाखोली मोटरमार्ग पर पाले में वाहन के फिसलने पर हादसा हुआ था जिसमे कई लोग घायल हो गए थे। वहीं स्थानीय लोगों ने आपबीती सुनाते हुए मीडिया को बताया था कि वो कई बार पाला जमे सड़कों पर चूना डालने की अपील शासन के अधिकारियों से कर चुके हैं लेकिन किसी ने सुध नहीं ली. ऐसे में लोगों के लिए सीख बने पौड़ी के पलायन एक चिंतन समूह के वरिष्ठ सदस्य राकेश बिजल्वाण, संस्थापक सदस्य गणेश काला और सह-संयोजक अनिल बहूगुणा।

सोशल मीडिया पर हो रही तारीफ

जी हां इन्होंने सरकार की ओऱ न झांकते हुए खुद ही सड़कों को पाला रहित बनाने के लिए चूना डालने का काम किया ताकि कोई सड़क हादसा न हो। हालांकि इसके लिए पहले डीएम की परमिशन ली गई औऱ डीएम के आदेश पर तीनों जो काम किया है वो काबिले ताऱीफ है। वहीं सोशल मीडिया पर इनके कामों की काफी तारीफ की जा रही है।

अजय रावत ने फेसबुक पोस्ट के जरिए दी जानकारी

वहीं इसकी जानकारी अजय रावत ने फेसबुक पर पोस्ट शेयर कर दी है और लिखा है कि….सिर्फ सरकार की तरफ न झांके, अपने दायित्वों का निर्वहन भी जरूरी…इन दिनों कड़ाके की ठंड के कारण जगह जगह पाले की फिसलन के चलते आये दिन दुर्घटनाओं की खबरें आ रही हैं। इन खबरों से चिंतित टीम पलायन एक चिंतन समूह के वरिष्ठ सदस्य राकेश बिजल्वाण, संस्थापक सदस्य गणेश काला और सह-संयोजक अनिल बहूगुणा ने आज स्टेट हाईवे संख्या -32 (पौडी-कांसखेत-सतपुलि-मरचूला) के पाला प्रभावित बनेख-पंडोरी हिस्से में चूना डालकर वाहनों के जोखिम को कम करने में अपना योगदान दिया।
हालांकि इस मार्ग के टेका गंगोटी क्षेत्र में पौड़ी गढ़वाल जिलाधिकारी धीराज गर्ब्याल के आदेश पर लोनिवि पौड़ी द्वारा चूना डाला गया लेकिन बावजूद इसके कुछ स्थानों पर नहीं डाला जा सका था।
उक्त महानुभावों की सामाजिक दायित्वों के निर्वहन के प्रति इस सजगता की प्रशंसा की जानी चाहिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here