उत्तराखंड में गजब : विधायक को नहीं बल्कि उनके पुतले को सौंपा ज्ञापन, जानिए क्यों?

रुड़की(अरशद हुसैन) : रुड़की के सलेमपुर गांव में हीरो कंपनी से निकाले गए अरुण सैनी को अब हीरो कंपनी के सैंकड़ो कर्मचारियों का समर्थन मिलने लगा है। सभी कर्मचारी कंपनी की यूनिफॉर्म में अरुण सैनी के आवास पर पहुंचे और  सभी ने उसका साथ देने का पूरा भरोसा दिलाया है। कंपनी प्रबंधन से अरुण सैनी को कंपनी में रखे जाने की जल्द ही कर्मचारी वार्ता करेंगे। इस दौरान सभी कर्मचारियों ने भाजपा विधायक देशराज कर्णवाल को ज्ञापन सौंपने के लिए विधायक से संपर्क किया गया तो वो बाहर होने के कारण नहीं आ सके जिसके बाद अरुण सैनी ने उनकी एक प्रतिमा बनाकर उसे ज्ञापन सौंपा।

दरअसल आपको बता दें कि रूड़की के सलेमपुर गांव निवासी अरुण सैनी पिछले दो साल से हीरो कंपनी में लौटने के लिए मंत्रियों, अधिकारियों, और जनप्रतिनिधियों तक के चक्कर काट चुका है लेकिन उसे आज तक भी कोई इंसाफ नहीं मिला है। यहां तक कि क्षेत्रीय विधायक देशराज के प्रयास भी अभी तक अरुण सैनी के किसी काम नहीं आ सके हैं। पीड़ित अरुण सैनी दर दर की ठोंकरे खाने को मजबूर है। श्रम विभाग के अधिकारी अरुण सैनी को इंसाफ दिलाने में बेबस बने हुए हैं। आलम ये है कि पिछले दिनों कैबिनेट मंत्री हरक सिंह रावत के सामने भी अरुण गिड़गिड़ा चुका हैं लेकिन सिवाए कोरे आश्वासनों के उसे आज तक कुछ हासिल नहीं हुआ है। अब उसे हीरो कंपनी के कर्मचारियों पर ही आस लगी है उसे उम्मीद है कि एक दिन उसे ज़रूर न्याय मिलेगा। अरुण सैनी का परिवार आज भारी आर्थिक तंगी से गुज़र रहा है जिसे परिवार चलाने में काफी परेशानी झेलनी पड़ रही है। इस दौरान सभी कर्मचारियों ने अरुण सैनी का हौंसला बढ़ाने के लिए पूरे शहर में तिरंगा लेकर रैली निकाली और भारत माता के नारे लगाए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here