जा सकती है नवजोत सिंह सिद्धू की आवाज, ये है बिमारी!!!

अपने भाषण की खास अौर बेबाक शैली के लिए मशहूर पंजाब केे स्थानीय निकाय मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू के लिए बड़ा खतरा पैदा हो गया है। डॉक्‍टराें ने सिद्धू की आवाज को खतरा बताया है। राज्‍य के कई जिले में कांग्रेस का चुनाव प्रचार करते-करते अपनी आवाज खोने की कगार पर पहुंच गए हैं। मामले की गंभीरता को देखते हुए अब डॉक्टरों ने उन्हें पांच दिन कंप्लीट रेस्ट की सलाह दी है। बताया जाता है कि डॉक्‍टरों ने कहा है कि अब यदि अधिक बोला तो उनकी आवाज जा सकती है।

डॉक्‍टरों ने पांच दिनों तक पूरे आराम और पूरी तरह चुप रहने की सलाह दी

गुरुवार को एक आधिकारिक प्रवक्ता ने यह खुलासा किया। जानकारी के अनुसार उनके खून के कई परीक्षण किए गए हैं और नतीजों का गंभीरता पूर्वक मूल्यांकन किया जा रहा है। सिद्धू संपूर्ण जांच और स्वास्थ्य रिकवरी के लिए एक अज्ञात स्थान पर चले गए हैं। उन्हें सांस लेने के अभ्यास करवाया जा रहा है। साथ ही, फिजियोथेरेपी के साथ विशेष दवाएं दी जा रही हैं।

सिद्धू ने 17 दिनों में 70 से अधिक जनसभाओं को किया संबोधित

बता दें कि सिद्धू पिछले दिनों 17 दिवसीय चुनाव अभियान पर थे। विशेष तौर पर तेलंगाना और राजस्‍थान में उन्होंने कांग्रेस के समर्थन में कई सभाएं की थीं। उन्होंने 70 से अधिक सार्वजनिक बैठकों में लोगों को संबोधित किया था। उन्‍होंने मध्‍यप्रदेश में भी कांग्रेस के लिए चुनावी सभाआें को संबोधित किया। इस दौरान लगातार भाषण देने के कारण उनकी वोकल कॉर्ड्स को काफी नुकसान पहुंचा। मेडिकल हेल्प लेने पर डॉक्टरों ने उन्हें बताया कि मामला बहुत गंभीर है। वह अपनी आवाज खोने के कगार पर थे। डॉक्टरों ने सिद्धू को तीन से पांच दिन तक पूरा आराम करने का सुझाव दिया है।

 ये है बिमारी

डॉक्‍टरों का कहना है कि सिद्धू को लिरिंगजाइटिस (गले की बीमारी, वोकल कार्ट) नामक बीमारी हो गई है। इसे लेकर उन्हें पांच दिनों तक एकदम चुप रहने की सलाह डाक्टरों ने दी है। बता दें कि दो सप्ताह से पंजाब व भारत से लेकर पाकिस्तान तक में अपनी तेज तर्रार भाषण शैली तथा अपने सियासी विरोधियों पर कमेंट करने को लेकर सिद्धू सियासी गलियारों में चर्चा का केंद्र बिंदु बने हुए हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here