हिजाब विवाद पर कर्नाटक हाईकोर्ट का बड़ा फैसला, सभी याचिकाएं खारिज, कहा-ये इस्लाम का अनिवार्य हिस्सा नहीं

कर्नाटक के स्कूल-कॉलेजों में हिजाब पहनने की इजाजत नहीं मिलेगी। कर्नाटक हाईकोर्ट ने मंगलवार को ये फैसला सुनाया है। लड़कियों की सभी 8 याचिकाएं खारिज कर दी गई है। बता दें कि पिछले 74 दिन से इस मामले पर घमासान मचा हुआ था। हाईकोर्ट ने याचिकाएं खारिज कर दी है। हाईकोर्ट ने कहा कि हिजाब इस्लाम का अनिवार्य हिस्सा नहीं है। साथ ही हाईकोर्ट ने कहा कि स्टूडेंट्स स्कूल या कॉलेज की तयशुदा यूनिफॉर्म पहनने से इनकार नहीं कर सकते।

हाईकोर्ट ने हिजाब के समर्थन में मुस्लिम लड़कियों समेत दूसरे लोगों की तरफ से लगाई गईं सभी 8 याचिकाएं खारिज कर दीं। चीफ जस्टिस रितुराज अवस्थी, जस्टिस कृष्ण एस. दीक्षित और जस्टिस खाजी जयबुन्नेसा मोहियुद्दीन की तीन मेंबर वाली बेंच ने राज्य सरकार के 5 फरवरी को दिए गए आदेश को भी निरस्त करने से इनकार कर दिया, जिसमें स्कूल यूनिफॉर्म को जरूरी बताया गया था।

मंगलवार को फैसला सुनाने से पहले हाईकोर्ट के चीफ जस्टिस रितुराज अवस्थी ने कहा कि इस मामले में दो सवालों पर गौर करना अहम है। पहला- क्या हिजाब पहनना आर्टिकल 25 के तहत धार्मिक आजादी के अधिकार में आता है। दूसरा- क्या स्कूल यूनिफॉर्म पहनने को कहना इस आजादी का हनन है। इसके बाद हाईकोर्ट ने शैक्षणिक संस्थानों में हिजाब पर बैन को सही ठहराया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here