पुलिस की लापरवाही : आरोपी को देख बिगड़ी मासूम रेप पीड़िता की हालत, मिलने पहुंचे मंत्री ने मसूरी अस्पताल में किया रेफर

टिहरी जनपद के जौनपुर ब्लॉक सेन्दुल गांव मे 9 साल की मासूम के साथ गांव के ही 23 साल के शादीशुदा युवक के द्वारा किए गए दुष्कर्म की घटना से जंहा पूरा क्षेत्र दंग है| वहीं देहरादून के दून अस्पताल से इलाज के बाद दून से 150 कि०मी० दूर वापस घर सेन्दुल गांव पीड़िता को लाया गया और फिर 200 कि०मी० दूर टिहरी में न्यायालय मे पुलिस के वाहन में आरोपी विपिन पंवार के साथ पीड़िता की मां और पीड़िता को लगभग 4 घण्टे के सफर में एक ही वाहन में न्यायालय में 164 के बयान के लिए ले जाया गया।

आरोपी को साथ में देखकर 9 साल की मासूम घबरा गई व न्यायालय में 164 के तहत बयान नहीं हो पाता। वापस घर आने पर बच्ची की हालत नाजुक हो गयी। बच्ची ना तो सो पा रही थी ना ही शौच कर पा रही थी। 9 साल की यह मासूम अभी भी सदमे में है। परिवार वाले खुद इस घटना से सदमे में हैं और सबका रो रो कर बुरा हाल है।

वहीं कैबिनेट मन्त्री यशपाल आर्य खुद परिवार से मिलने गांव पंहुचे व खुद बच्ची की बिगड़ती हालत को देखते हुए बच्ची को मसूरी अस्पताल भेजा गया.

वहीं क्षेत्रवासियो का कहना है कि आरोपी के साथ एक ही वाहन में पीड़िता को भेजना गलत है जिससे पीड़िता और गहरे सदमे मं आ गई। लोगों का आरोप है कि पुलिस की यह कार्यप्रणाली सरासर गलत है|

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here