भाजपाई बड़े खंडूरी और कांग्रेसी छोटे खंडूरी पहले पिता-पुत्र हैं, बाद में राजनीतिज्ञ, देखिए तस्वीरें

उत्तराखंड की सियासत में फिलहाल जिस बाप बेटे के रिश्ते की चर्चा सबसे अधिक हो रही है वो है पूर्व मुख्यमंत्री बीसी खंडूरी और उनके बेटे मनीष खंडूरी की। हाल ही में मनीष खंडूरी ने कांग्रेस के दामन थाम लिया है। हालांकि वो राजनीति में इससे पहले कभी सक्रिय नहीं रहें हैं लेकिन अब कांग्रेस के साथ खड़े हैं।

वहीं उनके पिता बीजेपी के हार्डकोर नेता हैं। अटल सरकार में मंत्री रहे, उत्तराखंड के मुख्यमंत्री रह चुके हैं, फिलहाल सांसद हैं। सेना से रिटायर हैं और अनुशासन के पक्के हैं।

भाजपाई बाप के कांग्रेसी बेटे की कहानी को लेकर उत्तराखंड के सियासी गलियारों में अलग अलग तरह से चर्चा हो रही है। सोशल मीडिया पर मनीष को निशाना भी बनाने की कोशिश की जा रही है। मनीष खंडूरी के कांग्रेस ज्वाइन करने के फैसले को गलत करार दिया जा रहा है तो वहीं कांग्रेस इसे टर्निंग प्वाइंट के तौर पर देख रही है।

हालांकि पिता – पुत्र पहले ही ये स्पष्ट कर चुके हैं कि उनके बीच राजनीतिक विचारधारा को भिन्नता हो सकती है पर पिता पुत्र के तौर पर प्यार पहले जैसा ही है। इसी तो दिखाते हुए मनीष खंडूरी ने अपनी फेसबुक वॉल पर एक फोटो शेयर की है। ये फोटो संभवत दिल्ली स्थित उनके आवास के हैं। इसमें मनीष खंडूरी, बीसी खंडूरी और परिवार के अन्य लोग हंसी खुशी होली के रंग में सराबोर दिख रहें हैं। पिता पुत्र एक दूसरे को टीका लगाते दिख रहें हैं। फोटो में मनीष की बहन रितु खंडूरी भी दिख रहीं हैं जो भाजपा की विधायक हैं। मनीष ने ऐसी कई फोटो शेयर करते हुए लिखा है कि “आज अपने सारे परिवार के साथ होली खेली , माता पिता का आशीर्वाद लिया और बहन का स्नेह मिला। प्रभु से प्रार्थना है की परिवार का प्रेम सदैव ऐसा ही बना रहे।”

जाहिर है कि अब मनीष खंडूरी साफ कर देना चाहते हैं कि पिता पुत्र के आपसी रिश्तों को लेकर सवाल उठाने बंद कर देने चाहिए और उनके राजनीति के मैदान में उतरने का इंतजार करना चाहिए। 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here