फ्लाइट में महिला पर पेशाब करने वाला शख्स गिरफ्तार, पुलिस ने ऐसे पकड़ा

shankar mishraएयर इंडिया की फ्लाइट में सहयात्री बुजुर्ग महिला पर कथित तौर पर पेशाब करने वाले व्यक्ति को गिरफ्तार किया जा चुका है। कोर्ट ने उसे 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया है। केस दर्ज होने के बाद से आरोपी शंकर मिश्रा फरार चल रहा था। पुलिस ने उसको गिरफ्तार करने को लेकर कई जगहों पर छापेमारी की थी।

गिरफ्तारी से पहले आरोपी लगातार अपनी लोकेशन बदल रहा था। पुलिस मुंबई और बेंगलुरू में कई जगहों पर छापेमारी कर चुकी थी। आखिरकार शंकर मिश्रा पुलिस के हत्थे चढ़ ही गया। आरोपी ने पुलिस ने बचने के लिए 3 जनवरी के बाद से ही अपना फोन स्विच ऑफ कर दिया है।

वह सोशल मीडिया के जरिये ही अपने जानने वाले लोगों के संपर्क में था। हालांकि, पुलिस ने टेक्निकल सर्विलांस के आधार पर उसकी लोकेशन को ट्रेस कर लिया। शंकर मिश्रा की आखिरी लोकेशन बेंगलुरू में ट्रेस हुई थी।

बेंगलुरु पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि आरोपी बेंगलुरु के संजय नगर में अपनी बहन के घर रह रहा था। दिल्ली पुलिस के अधिकारियों ने बताया कि मिश्रा ने 3 जनवरी को अपना मोबाइल फोन बंद कर दिया था। उसकी आखिरी लोकेशन बेंगलुरु में ट्रेस हुई थी।

उन्होंने बताया कि वह बेंगलुरु में यात्रा करने के लिए टैक्सी लिया करता था। उसके यात्रा की डिटेल निकाली गई। साथ ही उस रास्ते का पता लगाया गया जिससे वह अपने दफ्तर जाता था। शुक्रवार देर रात को मिश्रा की लोकेशन मैसुरु में ट्रेस हुई थी।

जब तक दिल्ली पुलिस का दल वहां पहुंचा तब तक वह टैक्सी से उतर चुका था। टैक्सी चालक से पूछताछ पर कुछ जानकारी हाथ लगी। पुलिस ने बताया कि मिश्रा को जिस जगह से गिरफ्तार किया गया है, वह अक्सर वहां ठहरता था।

यह मामला पिछले साल 26 नवंबर को न्यूयॉर्क से दिल्ली आ रही एयर इंडिया की एक फ्लाइट एआई-102 का है। उड़ान के दौरान बिजनेस क्लास में सफर कर रहे शंकर मिश्रा ने नशे की हालत में एक बुजुर्ग महिला पर कथित तौर पर पेशाब कर दिया था। दिल्ली पुलिस ने महिला द्वारा एअर इंडिया को दी गई शिकायत के आधार पर चार जनवरी को मिश्रा के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की थी। एफआईआर के अनुसार आरोपी ने महिला से उसके खिलाफ प्राथमिकी दर्ज न कराने की मिन्नतें की थी। उसका कहना था कि वह पारिवारिक व्यक्ति है और वह नहीं चाहता कि उसकी पत्नी तथा बच्चे पर इस घटना का असर पड़े।

कंपनी वेल्स फारगो ने किया बर्खास्त

आरोपी को देश छोड़कर जाने से रोकने के लिए उसके खिलाफ एक लुकआउट सर्कुलर जारी किया गया था। भारत में अमेरिकी बहुराष्ट्रीय कंपनी वेल्स फारगो के साथ काम कर रहे मिश्रा को शुक्रवार को बर्खास्त कर दिया गया। शंकर मिश्रा यूएस-आधारित फर्म के इंडिया चैप्टर के वाइस प्रेसिडेंट के रूप में काम करते थे। मिश्रा 2021 में अमेरिका के सबसे बड़े राष्ट्रीय बैंकों और वित्तीय सेवा प्रदाता में से एक, वेल्स फारगो से जुड़ा था। इससे पहले वह 2016-2021 तक एक अन्य प्रमुख बहुराष्ट्रीय बैंक से जुड़े थे। टाटा समूह के स्वामित्व वाली एयर इंडिया के सीईओ कैम्पबेल विल्सन ने इस घटना के लिए शनिवार को माफी मांगी और कहा कि चालक दल के चार सदस्यों तथा एक पायलट को जांच पूरी होने तक ड्यूटी से हटा दिया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here