केंद्रीय पर्यटन मंत्री से मिले महाराज, पर्यटक स्थलों पर होगा लाइट एंड साउंड शो

देहरादून/नई दिल्ली: उत्तराखण्ड के पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज ने गुरुवार को अपने दिल्ली प्रवास के दौरान केन्द्रीय संस्कृति, पर्यटन और पूर्वाेत्तर क्षेत्र के विकास मंत्री जी किशन रेड्डी से शिष्टाचार भेंट की। इसके साथ ही उन्होंने पर्यटक स्थलों पर लाइट एंड साउंड शो विकसित करने और रोपवे निर्माण आदि अनेक मामलों पर चर्चा की गई।

प्रदेश के पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज ने गुरुवार को केन्द्रीय संस्कृति, पर्यटन और पूर्वाेत्तर क्षेत्र के विकास मंत्री जी किशन रेड्डी से शिष्टाचार भेंट कर उत्तराखंड में महाभारत सर्किट विकास, कैंची धाम मंदिर अवस्थापना विकास एवं महावतार बाबा की तपस्थली द्वाराहाट के निकट कुकुचीना में पर्यटन सुविधाओं के विकास को लेकर व्यापक चर्चा हुई।महाराज ने नीम कैरोली बाबा कैंची धाम द्वाराहाट के निकट कुकुचीना में स्थित महावतार बाबा की तपस्थली में पर्यटन सुविधाओं और स्थापना के विकास के लिए केन्द्रीय मंत्री से अनुरोध किया।

महाराज ने उन्हें बताया कि कैंची धाम में मार्क जुबरबर्ग और स्टीव जॉबस ने इस धाम में आकर ध्यान किया था।द्रोणनगरी देहरादून, लाक्ष्यगृह लाखा मंडल, स्वर्गारोहणी, बद्रीनाथ, सतोपंथ आदि स्थानों को सम्मिलित करते हुए महाभारत सर्किट का निर्माण करने हेतु वित्तीय सहायता केन्द्र के स्तर से प्रदान करने के संबंध में केन्द्रीय मंत्री से अनुरोध किया।

केन्द्रीय मंत्री ने कहा कि भारत सरकार के पर्यटन मंत्रालय द्वारा पूरे देश के मेलों को प्रचारित-प्रसारित करने की योजना बनाई जा रही है। उन्होंने महाराज से कहा कि उत्तराखण्ड की लोक संस्कृति से जुड़े हुए सांस्कृतिक मेलों के फोटो, विडियो आदि बनाकर भारत सरकार द्वारा प्रचार प्रसार किया जायेगा। इस संबंध में उत्तराखंड के लोकजात मेला, बागेश्वर के उत्तरायणी मेला और देवीधुरा के ऐतिहासिक बग्वाल मेले पर भी दोनों मंत्रियों के बीच चर्चा हुई।

उत्तराखण्ड के पर्यटन मंत्री ने केन्द्रीय मंत्री को अवगत कराया कि जिम कॉर्बेट नेशनल पार्क में जहां बियर ग्रिल्स के साथ माननीय प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी मैन वर्सेज वाईल्ड की शूटिंग की थी उसे मोदी ट्रेल के रूप में विकसित किया जा रहा है। केन्द्रीय मंत्री ने कहा कि नये रोपवे निर्माण के लिए परिवहन विभाग के साथ में समन्वय करते हुए उत्तराखण्ड राज्य में नये रोपवे बनाये जायेंगे। उन्होंने कहा कि इसके चारों ओर पर्यटन विभाग के साथ मिलकर पर्यटन सुविधाओं व अवस्थापनाओं का विकास किया जायेगा।

इसके अलावा जागेश्वर और कटारमल एवं अन्य स्थानों पर लाईट एण्ड साउड शो आयोजित करने के लिए अनुरोध किया जिस पर केन्द्रीय मंत्री ने आश्वासन दिया कि इनका आयोजन भी हम करेंगे। केन्द्रीय मंत्री ने कहा कि उत्तराखण्ड देवभूमि मंदिरों का राज्य है मंदिरों के बाहर अवस्थापना और पर्यटन विकास की सुविधाओं को बढ़ाया जाये जिससे केवल मंदिर ही नहीं उसके चारों ओर के स्थान विकसित हों और स्थानीय लोगों को रोजगार के साथ ही दूसरी सुविधाऐं विकसित हो सके।

वहीं, महाराज ने केन्द्रीय मंत्री को सुझाव दिया कि हिन्दु धर्म के ऐतिहासिक महत्व पर पर्यटन एवं संस्कृति विभाग द्वारा एक कॉफी टेबल बुक निकाली जायें जिससे भारत के पड़ोसी एशियाई देशों में जहां भी हिन्दु धर्म के अवशेष हैं, उनको इस बुक में समावेशित किये जाय।

केन्द्रीय मंत्री ने आश्वस्त किया कि जो भी सुझाव और प्रस्ताव दिये गये हैं उन सभी पर सकरात्मक रूप से कार्य किया जायेगा। उन्होंने कहा कि उत्तराखंड राज्य के पर्यटन को मजबूत करने के लिए केन्द्र सरकार प्रतिबद्ध है। पर्यटन अवस्थानाओं और पर्यटन सुविधाओं के विकास पर जोर दिया जायेगा जिससे स्थानीय लोगों को रोजगार दिया जा सके और स्थानीय अर्थ व्यवस्था को मजबूत किया जा सके।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here