सुनिए विंग कमांडर अभिनंदन की बहादुरी की कहानी पाकिस्तानियों की जुबानी

देहरादून : भारत देश के जवानों को यूं ही शेर नहीं कहा गया है…चाहे बात युद्ध की करें या सीमा पर रहकर देश की रक्षा करने की…देश के वीर जवानों ने हमेशा से ही साहस का परिचय दिया है. कई जवानों ने देश की रक्षा करते हुए शहादत पाई तो किसी जवान ने अपनी जिंदगी से ज्यादा देश की रक्षा को कीमती मानते हुए प्राणों की आहूति दी है.

वहीं जब बात आती है अभिनंदन के नाम की तो इस वक्त पूरे देश के लोगों की नगाहें अभिनंदन पर टिकी है…जिन्होने अपने भारतीय विमान से पाक के विमान का पीछा किया औऱ उसे उनकी ही धरती पर ढेर किया…हालांकि इस दौरान वो भी पाकिस्तान में जा पहुंचे और वहां कि आर्मी ने उन्हें बंदी बना लिया.

खून से लथपथ होने के बावजूद अपना दिल रखा मजबूत 

वहीं पायलट के पाक की धरती में गिरने के बाद भी भारतीय जवान ने साहस को अपने साथ रखा और वहां के लोगों का कठोरता से सामना किया….वीर बहादुर ने खून से लतपत होने के बावजूद अपना दिल मजबूत रखा और पाक की धरती में भी शेर की तरह खड़ा रहा. जिसकी तारीफ वहां के लोगों ने की. वहीं इस दौरान उन्होंने देश के प्रति वफादारी भी दिखाई जो की आप खुद पाकिस्तानी लोगों के मुंह से सुन सकते हैं.

कागजों को निगला

पाकिस्तानी लोगों ने खुद बताया कि नीचे गिरने के बाद विंग कमांडर भागे और तालाब के पास पहुंचे उन्होंने जेब से जरुरी कागजों को निगल लिया औऱ बाकी कागजों को फाड़कर पानी में बहा दिया. वहीं पाक सेना द्वारा पूछे गए किसी भी सवाल का जवाब न देते हुए सिर्फ अपना नाम, नंबर ही बताया.

वहीं आज अभिनंदन का वाघा बॉर्डर में अभिनंदन होगा… खबर है कि दोपहर तक वो वाघा बॉर्डर से स्वदेश लौटेंगे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here