गूगल पर सीखी नकली नोट बनाने की तरकीब और फिर छापे नोट, पांच गिरफ्तार

नकली नोट छापने वाले एक बड़े गैंग का खुलासा पुलिस ने किया। इस गैंग ने नकली नोट छापने को लेकर जो खुलासे किए और जो नोट पुलिस को पाए गए उसे देख पुलिस हैरान रह गई।

नकली नोट छापने वाले गैंग के पास पाए गए नोटों पर अंकित एक ही सीरियल नंबर से पुलिस को शक हुआ. जी हां बता दें कि यूपी गोरखपुर की कलवारी-बस्ती पुलिस ने नकली नोट छापने और चलाने वाले गिरोह के 5 सदस्यों को गिरफ्तार किया था। पुलिस को आरोपियों के कब्जे से दो-दो सौ के एक लाख 81 हजार रुपये के जाली नोट बरामद की गई। 74 पेज अर्द्धनिर्मित नोट, छपे हुए कटे फटे 15 नोट, सफेद कागज 20 पेज, डाटा केबल, स्केल, कटर, लैपटॉप, प्रिंटर के साथ पांच मोबाइल फोन और एक बाइक भी बरामद की गई। आरोपियों ने खुलासा किया कि उन्होने गूगल पर सर्च कर नकली नोट बनाने के बारे में जानकारी ली औऱ फिर काम को अंजाम दिया।

आरोपियों में गणेश मौर्या, अजय यादव, अमृत सेन, विजय प्रकाश और अभय श्रीवास्तव शामिल हैं। एसपी हेमराज मीना ने जानकारी दी कि अभय के केंवचा गांव स्थित घर से नोट छापने के उपकरण, काफी संख्या में अर्द्धनिर्मित नोट, नोट की साइज में कटे हुए कागज, पांच मोबाइल फोन आदि बरामद किए गए हैं। गिरोह के सरगना गणेश मौर्य ने बताया कि अभय के घर नोट छापकर वे लोग अंबेडकर नगर, आजमगढ़ समेत कई जिलों के में सप्लाई करते थे। बता दें कि पुलिस ने इन  सभी आऱोपियों के घर पर भी छापा मारा और काफी सामान बरामद किया।

टीम में एसओजी प्रभारी अवधेश राज सिंह, कांस्टेबल आदित्य पांडेय, बुद्धेश कुमार, राम सुरेश यादव, दिलीप कुमार एवं अजय यादव के अलावा थानाध्यक्ष कलवारी संतोष कुमार सिंह शामिल थे । जिन्हें एसपी ने 10 हजार रुपये इनाम देने की भी घोषणा की है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here