कोतवाल रितेश शाह की लीडरशिप का कमाल, साल के अंत में पुलिस को बड़ी कामयाबी

ऋषिकेश : ऋषिकेश कोतवाली प्रभारी रितेश शाह की सॉलिड लीडरशिप के चलते अब तक तीर्थनगरी ऋषिकेश में कई नशे के सौदागरों को सलाखों के पीछे भेजा जा चुका है औऱ साथ ही लाखों का नशे का माल बरामद किया गया. इसी के साथ भारी मात्रा में अवैध शराब को नष्ट किया गया। वहीं तीर्थनगर ऋषिकेश पुलिस को 2019 के जाते-जाते यानी की साल के अंत में बड़ी कामयाबी हाथ लगी. जी हां पुलिस ने आस्थापथ पर नशे की बिक्री करते चार सौदागरों को गिरफ्तार किया. साथ ही उनके पास से 16 किलो 110 ग्राम गांजा बरामद किया गया जिसकी अनुमानित कीमत 3,20,000 रूपये बताई जा रही है।

नशे के सौदागरों को गिरफ्तार कर भेजा सलाखोॆ के पीछे 

देहरादून एसएसपी के निर्देश पर जिले में नशे के खिलाफ अभियान चलाया गया जिसमे ऋषिकेश पुलिस ने ताबड़तोड़ चेकिंग कर कई नशे के सौदागरों को गिरफ्तार कर सलाखोॆ के पीछे भेजा। ये नतीजा है जिले के कप्तान अरुण मोहन जोशी और कोतवाली के लीडर रितेश शाह के कड़े निर्देश और सख्ती का।

ऋषिकेश कोतवाली प्रभारी निरीक्षक रितेश शाह की लीडरशिप का कमाल

जी हां ऋषिकेश कोतवाली प्रभारी निरीक्षक रितेश शाह की लीडरशिप के चलते थाना/चौकी क्षेत्रान्तर्गत विशेषकर आस्थापथ में नशे के सौदागरों द्वारा नशा बेचने की शिकायतों पर अलग अलग पुलिस टीम बनाई गई और सुबह-शाम लगातार चैकिंग अभियान चलाया गया। 27 दिसंबर की देर रात पुलिस टीम को सूचना मिली कि आस्थापथ में 72 सीढ़ी के समीप तीन चार लोग नशा बेच रहे हैं। इस सूचना पर पुलिस टीम मौके पर पंहुची तो 4 व्यक्ति लोहे की बेंच पर शॉल ओड़े बैठे थे। पुलिस को देख उनकी हालत खस्ता हो गई। सख्ती से पूछताछ करने पर चारो ने बताया कि हम लोग बलिया उत्तरप्रदेश से आये हैं और हमारे पास गांजा है। जामातलाशी लेने पर इनके पास से गांजा बरामद हुआ।

यूपी से लाए गांजा, ऋषिकेश में अंग्रेजों को बेचते थे

वहीं पूछताछ में चारो ने बताया कि ऋषिकेश क्षेत्र में साधू बाबा, विदेशी/अंग्रेज अधिक रहते हैं, जो कि नशे के रूप में गांजे का अधिक प्रयोग करते हैं। साथ ही नया साल भी आने वाला है। जिस कारण लक्ष्मणझूला और मुनिकीरेती क्षेत्र में अंग्रेज व टूरिस्ट भी इसे काफी मंहगे दामों में खरीदते हैं। जिस कारण वो सभी बलिया उत्तरप्रदेश से काफी मात्रा में गांजा लेकर यहां पर बेचने आये थे जिसकी पुड़िया बनाकर वो बेचते हैं।

माल को साधू बाबाओं और नवयुवकों को भी सप्लाई करते थे

आरोपियों ने बताया कि उनका एक साथी राजेश ऋषिकेश और हरिद्वार क्षेत्र में अलग अलग जगहों पर कमरा लेकर रहते हैं। यूपी के बलिया से माल लेकर वो उन्हीं के पास रुकते हैं और माल को साधू बाबाओं और नवयुवकों को सप्लाई करते हैं। चारों व्यक्तियों के विरूद्ध एनडीपीएस एक्ट के अन्तर्गत अभियोग पंजीकृत कर माननीय न्यायालय पेश किया जा रहा है।

आरोपियों का नाम पता

1- जगजीत सिंह पुत्र रामआशीष सिंह निवासी ग्राम तिथरा हैदरपुर, पोस्ट मलय हरसैनपुर, थाना नगरा, जिला बलिया उत्तरप्रदेश, उम्र 55 वर्ष

2- राजेश पुत्र भेली निवासी ग्राम अतरौली कमरौला, पोस्ट अतरोली, थाना नगरा, जिला बलिया उत्तरप्रदेश,उम्र 45 वर्ष, हालपता- मशां देवी श्यामपुर ऋषिकेश।

3- शिव कुमार पुत्र अर्जुन राम निवासी ग्राम मलय हरसैनपुर, थाना नगरा, जिला बलिया उत्तरप्रदेश, उम्र 45 वर्ष।

4- विनोद कुमार चौहान पुत्र कैलाश चौहान निवासी ग्राम बैरहि पोस्ट लहसनी, थाना नगरा, जिला बलिया, उत्तरप्रदेश, उम्र 35 वर्ष।

बरामद माल

1- जगजीत – 04 किलो 39 ग्राम गांजा

2- राजेश – 04 किलो 41 ग्राम गांजा

3- शिव कुमार – 04 किलो 36 ग्राम गांजा

4- विनोद कुमार – 04 किलो 39 ग्राम गांजा

पुलिस टीम में क्षेत्राधिकारी ऋषिकेश वीरेन्द्र सिंह रावत, प्रभारी निरीक्षक रितेश साह, व.उ.नि. ओमकान्त भूषण, त्रिवेणीघाट चौकी प्रभारी उ.नि. उत्तम रमोला, का. 1185 नवनीत सिंह नेगी, का. 1720 सोनी कुमार, कां. 1161 अनित कुमार, कां. 823 मनोज कुमार, कां. जल पुलिस हरीश गुसांई, कां. जसपाल

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here