“खिचड़ी” खाने जा रही थीं इंदिरा और प्रदेश प्रभारी, सचिवों के इस्तीफे ने फैला दिया “रायता”

हल्द्वानी: नेता प्रतिपक्ष और कांग्रेस की सीनियर लीडर इंदिरा हृदयेश और प्रदेश प्रभारी अनुग्रह नारायण सिंह को उस समय विरोध का का सामना करना पड़, जब दोनों कांग्रेस कार्यालय में आयोजित खिचड़ी कार्यक्रम में हिस्सा लेने जा रहे थे। कांग्रेस के हाल ही में नियुक्त दो प्रदेश सचिवों ने प्रदेश प्रभारी को अपना इस्तीफा सौंप दिया।

प्रदेश प्रभारी और इंदिरा हृदयेश पार्टी कार्यालय में आयोजित खिचड़ी कार्यक्रम में हिस्सा लेने जा रहे थे। जैसे वो कार्यालय के गेट पर पहुंचे नैनीताल दुग्ध संघ के पूर्व चेयरमैन संजय किरोला और कालाढूंगी नगर पालिका के पूर्व अध्यक्ष दीप सती ने उनको कार्यकर्ताओं के साथ घेरकर अपना इस्तीफा सौंप दिया। संजय किरोला ने कहा कि जिन लोगों ने पार्टी का विरोध किया था। उनको पार्टी ने महामंत्री बना दिया। किरोला ने हरीश धामी के बयान को भी सही ठहराया। कहा कि धामी की पीड़ा सही है।

इस पर इंदिरा हृदयेश ने कहा कि रास्ता रोकने से कुछ नहीं होने वाला। हर किसी को मनचाहा पद देना संभव नहीं है। उन्होंने कहा कि धामी को मना लिया जाएगा। एक सप्ताह के भीतर मामला ठीक हो जाएगा। प्रदेश प्रभारी ने कहा कि धामी मजबूत आदमी हैं। इस मामले जो कुछ भी हुआ। उसकी जो भी कार्रवाई होगी, उसकी जिम्मेदारी प्रदेश प्रभारी होने के नाते उनकी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here