उत्तराखंड : जवानों ने बढ़ाया खाकी का मान, अपनी सैलरी से किया ये नेक काम

चंपावत : अब तक कई ऐसे मामले सामने आ चुके हैं जिसमे पुलिसकर्मी घूस लेते हुए पकड़े गए हैं या देखें गए है. और कई बार तो पुलिसकर्मियों का गुंडागर्दी भरा वीडियो भी वायरल हुआ जिसके बाद लोगों ने पुलिस विभाग औऱ वर्दी को खूब खरी खोटी सुनाई और पुलिस की कार्यप्रणाली पर कई सवाल खड़े किए. पुलिस विभाग को कुछ पुलिसकर्मियों औऱ अधिकारियों के कारण पूरे विभाग को अपमान और चिल्लत सहनी पड़ी है लेकिन आज भी पुलिस विभाग में ऐसे पुलिसकर्मी और अधिकारी हैं जिन्होंने अपने कामों से, मानवता दिखाते हुए वर्दी का, खाकी का मान बढ़ाया है.

चंपावत पुलिस ने मिसाल की पेश

जी हां ऐसा ही काम किया है उत्तराखंड पुलिस में चंपावत जिले के तामली में तैनात पुलिस कर्मियों ने. जो काम सरकार को करना चाहिए था वो पुलिसकर्मियों ने कर दिखाया. मानवता की मिसाल पेश करते हुए सब इंस्पेक्टर मनीष खत्री सहित पुलिसकर्मियों ने 2 दिसंबर को गरीब और असहायय बच्चों को बैग, स्वेटर और पठन-पाठन की सामग्री बांटी. अपनी सैलरी में से कुछ पैसा गरीब बच्चों के नाम किया. जो की काबिले तारीफ है. कुछ कर्मियों की वजह से जहां पूरे विभाग को लोग जहां खरी खोटी सुनाते हैं तो वहीं चंपावत जिलों में इन पुलिसकर्मियो ने उन लोगों को जवाब दिया है कि हर खाकी वाला ऐसा नहीं होता है. दरियादिली दिखाते हुए पुलिकर्मियों ने गांव के बच्चों की मदद की.

उत्तराखंड पुलिस ने शेयर की तस्वीरें

मानवता से बड़ा कोई धर्म नहीं होता, असहायों की सहायता से बड़ी कोई पूजा नही होती। इस कहावत को चरितार्थ कर रहे हैं उत्तराखंड पुलिस के ये जवान।

दरअसल 2 दिसंबर को जनपद चम्पावत के थाना तामली में नियुक्त पुलिसकर्मियों ने प्राथमिक विद्यालय, मंच में जाकर आर्थिक रूप से कमजोर छात्र-छात्राओं को स्कूल बैग, लेखन सामग्री एवं सर्दी से बचाव के लिए स्वेटर बांटे. ऐसे ही निर्धन और असहाय लोगों की मदद को उत्तराखंड के जवानों के हाथ निरन्तर रूप से बढ़ रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here