‘लियो’ की तलाश में बेंगलूरु से उत्तराखंड पहुंचा कपूर परिवार, ढूंढने वाले को इनाम देने की घोषणा

कई लोग एनीमल लवर होते हैं। कई लोग हैं जो पालतू जानवरों जैसे कुत्ते, बिल्ली, तोते से बहुत प्यार करते हैं। उन्हें इंसान की तहर सहलाते हैं, खिलाते-पिलाते हैं। नहलाते हैं अपने साथ सुलाते हैं। ऐसा ही जानवरों के प्रति प्यार देखने को मिला बेंगलूरु की एक परिवार में जो बिल्ली की तलाश में बेंगलूरु से नैनीताल आ पहुंचे। जी हां परिवार ने ना सिर्फ अपनी फ्लाइट मिस की बल्की उन्होंने बिल्ली को ढूंढने वालों को इनाम देने की घोषणा की।

दरअशल बीती 1 और 2 अक्तूबर को बेंगलुरू निवासी हर्ष कपूर पत्नी भव्या पांडे कपूर के साथ अपनी दो पालतू बिल्लियां ‘लियो’ और ‘कोको’ को लेकर घूमने के लिए सूर्या गांव स्थित बलौट रिजॉर्ट पहुंचे थे। इस दौरान बीती 3 अक्तूबर को ‘लियो’ जंगल में चली गई और खो गई। दंपती ने लियो को खूब ढूंढा लेकिन वो नहीं मिली। दंपती ने जंगल छान मारा लेकिन उनकी बिल्ली का कुछ पता नहीं चला। कपूर परिवार की चहेती बिल्ली के लिए कपूर परिवार ने रिजॉर्ट के स्टाफ के साथ-साथ स्थानीय लोगों से मदद मांग। कपूर परिवार की फ्लाइट थी जो उन्होंने मिस कर दी और लियो को ढंढूते रहे। वहीं कपूर परिवार ने ढूंढने वाले को इनाम देने की घोषणा भी की।

काफी ढूंढने के बाद कपूर परिवार वापस बेंगलुरू लौट गए। रिजॉर्ट मालिक एवं वाइल्ड टस्कर सोसाइटी चलाने वाले विकास किरौला ने बताया कि चार दिन पहले किसी ग्रामीण ने कपूर दंपति को फोन किया कि उनकी बिल्ली उसके घर के आसपास दिखी है। ये खबर कपूर परिवार को लगी तो तो तुरंक वो नैनीताल के बलौट रिजॉर्ट पहुंचे और उन्होंने गांव में और जंगल में बिल्ली को तलाशा। जानकारी मिली है कि बिल्ली लियो अभी तक कपूर परिवार को नहीं मिली है। परिवार का कहना है कि वो बिल्ली को ढूंढकर रहेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here