जॉइंट मजिस्ट्रेट की अचानक छापेमारी से कांप उठे डॉक्टर, मेडिकल स्टोर सील

रुड़की के स्वास्तिक हॉस्पिटल में जॉइंट मजिस्ट्रेट के छापे से हड़कम्प मच गया जिसमे बड़े पैमाने पर खामियां सामने आने पर जॉइंट मजिस्ट्रेट ने अस्पताल का मैडीकल स्टोर सील कर दिया. किसी भी डॉक्टर के पास कोई डिग्री ना मिलने पर जॉइंट मजिस्ट्रेट नितिका खंडेलवाल ने अस्पताल के स्वामी डॉक्टर संजीव सैनी को जमकर फटकार लगाई।

अस्पताल का डॉक्टर जॉइंट मजिस्ट्रेट को कोई भी रजिस्ट्रेशन का प्रमाण नहीं दिखा पाया और ना ही कोई तथ्यपूर्ण जवाब दे पाया, जिसके चलते जॉइंट मजिस्ट्रेट ने अस्पताल का मेडीकल स्टोर को सील करते हुए सभी मरीजों को सिविल हॉस्पिटल में रैफर करने के सीएमएस को निर्देश दिए।

फिलहाल अस्पताल में बड़े पैमाने पर अनियमितताएं सामने आने पर जॉइंट मजिस्ट्रेट ने पूरे अस्पताल की जांच हरिद्वार  सीएमओ को सौंप दी है।

जॉइंट मजिस्ट्रेट के सामने सिविल हॉस्पिटल की महिला चिकित्सा अधिकारी की भूमिका भी संदिग्ध पायी गयी है. महिला चिकित्सक ही गर्भवती महिलाओं को खास नंबर की 108 एम्बुलेंस से स्वास्तिक हॉस्पिटल में भेजती थी जिसके एवज़ में महिला चिकित्सक को इस हॉस्पिटल से मोटी रकम मिलती थी ।

देर रात भी सिविल हॉस्पिटल से आई गर्भवती महिला से जॉइंट मजिस्ट्रेट ने पूछताछ की तो जॉइंट मजिस्ट्रेट निकिता खंडेलवाल भड़क गईं और उन्होंने पूरे अस्पताल का बारीकी से निरीक्षण किया.

गौरतलब है कि रुड़की का स्वास्तिक हॉस्पिटल पहले भी काफी चर्चाओं में रह चुका है. इस अस्पताल में डॉक्टरों के बड़े-बड़े डिग्री के बोर्ड लगे हुए हैं, लेकिन कोई भी डॉक्टर हॉस्पिटल में नहीं है।पूरे मामले की जांच अब स्वास्थ्य विभाग हरिद्वार को सौंप दी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here