इंस्पेक्टर की बहन बोली- CM सिर्फ गऊ-गऊ चिल्लाते रहते हैं उसी गाय के लिए मेरे भाई ने जान दी

यूपी के बुलंदशहर में भीड़ द्वारा मारे गए इंस्पेक्टर सुबोध सिंह की बहन ने आरोप लगाया कि उनके भाई अखलाक मामले की जांच कर रहे थे इसलिए उन्हें मारा गया है। उन्होंने इसे पुलिस की साजिश करार दिया है। साथ ही उन्होंने इंस्पेक्टर सुबोध सिंह को शहीद का दर्जा देने की मांग भी की है।

यह पुलिस की साजिश है-सुबोध की बहन

बुलंदशहर के स्याना इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह की बहन सुनीता सिंह ने कहा कि यह पुलिस की साजिश है। मेरे भाई अखलाक केस की जांच कर रहे थे इसलिए उन्हें मारा गया है। मुझे अफसोस है कि सीएम या किसी भी जनप्रतिनिधि ने हमारे परिवार से संपर्क करने की कोशिश नहीं की है।’

सीएम सिर्फ गऊ, गऊ, गऊ चिल्लाते रहते हैं-सुबोध की बहन

उन्होंने सरकार पर नाराजगी जताते हुए कहा कि हम पैसा नहीं चाहते हैं। सीएम सिर्फ गऊ, गऊ, गऊ चिल्लाते रहते हैं। उसी गऊ माता के लिए मेरे भाई ने जान दे दी। अब सीएम कुछ करेंगे…उन्होंने आगे कहा कि वह अपने भाई को शहीद का दर्जा चाहती हैं। साथ ही गांव में शहीद स्मारक भी बनवाया जाए। उन्होंने बताया कि उनके पिता की भी इसी तरह मौत हुई थी। सुनीता ने कहा कि उन्हें झांसी में गोली लगी थी और इलाज के दौरान आगरा में उनकी मौत हो गई थी।

इंस्पेक्टर सुबोध सिंह की रिवॉल्वर छीन ली गई थी

मामले में अब तक पुलिस ने 4 आरोपियों को हिरासत में लिया है। जांच के लिए एक एसआईटी का भी गठन किया गया है। पुलिस एफआईआर के मुताबिक भीड़ में शामिल लोग इंस्‍पेक्‍टर सुबोध कुमार की पिस्‍टल और तीन मोबाइल फोन छीन ले गए। उन्‍होंने सरकारी वायरलेस सेट को भी तोड़ दिया था।

मामले में दो एफआईआर दर्ज

मेरठ जोन के एडीजी प्रशांत कुमार ने बताया कि मामले में 2 एफआईआर दर्ज हुई हैं। इसमें पहली एफआईआर कथित गोकशी पर और दूसरी एफआईआर हिंसक प्रदर्शन पर दर्ज की गई है। इसमें एक एफआईआर में 27 लोगों को आरोपी बनाया गया है जबकि दूसरे में 60 लोगों के खिलाफ केस दर्ज हुआ है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here