कांग्रेस में दरार : इंदिरा की धामी को नसीहत, बोलीं-कभी-कभी ज्यादा वफादारी भी भारी पड़ जाती है

हल्द्वानी : हरीश रावत के सोशल मीडिया में अपना दर्द जताने के बाद, प्रदेश नेतृत्व के ऊपर उग्र हुए हरीश रावत के करीबी धारचूला विधायक हरीश धामी ने जहां निर्दलीय चुनाव लड़ने की बात कही थी, तो वहीं उसके बाद अब धामी ने फेसबुक पर टिप्पणी लिख अपने प्रदेश नेतृत्व पर सवाल उठाए?

वहीं इस पर नेता प्रतिपक्ष इंदिरा हृदयेश ने हरीश धामी को नसीहत देते हुए कहा कि कभी-कभी ज्यादा वफादारी भी भारी पड़ जाती है, लिहाजा विधानसभा सत्र से पहले कल होने वाली विधायक दल की बैठक में हरीश धामी से इस बारे में बातचीत की जाएगी. इस तरह की बयानबाजी से कांग्रेस संगठन और पार्टी के विधायकों में भी आपसी गुटबाजी खुलकर सामने आ रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here