उत्तराखंड के इस गांव में बिना सत्यापन के नहीं मिलेगी एंट्री, लगा दिया बोर्ड

warning board
WEB

बाहर से आने वाले फेरी व्यापारियों से ठगी के मामले सामने आने के बाद लोहाघाट विकासखंड के ग्राम पंचायत बिंडा तिवारी के दिगालीचौड़ में ग्रामीणों ने अहम फैसला लेते हुए गांव की सीमा पर बिना सत्यापन गांव में आने की अनुमति नहीं दी जाएगी। गांव वालों ने इस संबंध में एक चेतावनी बोर्ड गांव के बाहर लगा दिया है।

जानकारी के मुताबिक बिना सत्यापन के बाहरी फेरी व्यापारियों को गांव में आने के लिए पहले सत्यापन करना पड़ेगा। चंपावत जिले के लोहाघाट विकास खंड के ग्राम पंचायत बिंडा तिवारी के दिगालीचौड़ में ग्रामीणों ने बगैर सत्यापन के बाहरी क्षेत्र से आने वाले फेरी व्यापारियों पर रोक लगा दी है। इसके लिए उन्होंने गांव के प्रवेशद्वार पर चेतावनी बोर्ड लगा दिया है।

ग्राम प्रधान मोनू बिष्ट के हवाले से मीडिया में प्रकाशित रिपोर्ट्स बताती हैं कि ग्रामीणों के सुझाव के बाद गांव के प्रवेश द्वार पर चेतावनी बोर्ड लगा दिया गया है। जिसमें उन्होंने बगैर पुलिस और ग्राम प्रधान के सत्यापन के फेरी और व्यापारियों के प्रवेश पर रोक लगाई गई है। कई लोग बिना सत्यापन के नगर और गांव में प्रवेश कर रहे हैं। जिनके द्वारा ग्रामीणों को ठगने का मामला सामने आया है, और भविष्य में भी नुकसान होने की आशंका बनी हुई है। इसी के मद्देनजर गांव के प्रवेश द्वार पर चेतावनी बोर्ड लगाया है। गांव में आने से पहले फेरी और व्यापारियों के पास पुलिस या ग्राम प्रधान का सत्यापन होना जरुरी है, वरना बिना सत्यापन के फेरी व्यापारियों व्यापार के लिए गांव में आने की अनुमति नहीं दी जाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here