उत्तराखंड : हनी ट्रैप गिरोह का भंडाफोड़, बहू-बेटा और ससुर ऐसे फंसाते थे युवकों को

रुड़की: उत्तराखंड में हनी ट्रैप से जुड़े कई मामले सामने आए जिसमे युवाओं को अपने जाल में फंसा कर उन्हें धमकी देना, पैंसे ऐंठने जैसे काम किए गए.

वहीं उत्तराखंड में इस सिलसिले में एक ही परिवार के तीन लोगों को गिरफ्तार किया गया है। परिवार की बहू सोशल मीडिया के जरिये दोस्ती कर लोगों को घर बुलाती थी और उसके बाद उसका पति और ससुर उन्हें दुष्कर्म में फंसाने की धमकी देकर रुपये ऐंठते थे। इनके जाल में फंसे एक युवक की सूझबूझ से पुलिस इस गिरोह तक पहुंची। युवक से गिरोह ने 50 हजार रुपये ऐंठने की योजना बनाई थी, पुलिस यह रकम भी उनके कब्जे से बरामद की है।

मेरठ के युवक को आई रितिका सिंह नाम से फेसबुक पर फ्रेंड रिक्वेस्ट

मामला गंगनहर कोतवाली क्षेत्र के गंगा एनक्लेव का है जहां आरोपित का परिवार रहता है. दरअसल मेरठ के कंकरखेड़ा निवासी मोहित गिरी को कुछ दिन पहले रितिका सिंह नाम से फेसबुक पर फ्रेंड रिक्वेस्ट आई थी, जिसे उसने स्वीकार कर लिया। इसके बाद मोहित की रितिका सिंह से ऑनलाइन चैट होने लगी। दो दिन बाद ही रितिका ने युवक को अपना मोबाइल नंबर दे दिया। बताया कि उसका असली नाम राशि है और वह गंगा एन्क्लेव कोतवाली गंगनहर रुड़की में रहती है।

6 सितंबर को घर में अकेला होना कहकर मोहित को मिलने के लिए घर बुला लिया

उसने छह सितंबर को घर में अकेला होना कहकर मोहित को मिलने के लिए घर बुला लिया। इस पर मोहित उससे मिलने घर पहुंचा। कुछ देर बाद दो लोग वहां आ धमके और मोहित से अभद्रता करने लगे। इनमें से एक ने खुद को राशि का पति अनंत वर्मा उर्फ चीनू वर्मा बताया आर दूसरे ने ससुर वीरेंद्र बताया।

दुष्कर्म के झूठे मुकदमे का डर दिखाकर दो लाख रुपये मांगे 

ये युवक को दुष्कर्म के झूठे मुकदमे का डर दिखाकर दो लाख रुपये मांगने लगे। मोहित ने उन्हें बताया कि वह अभी पढ़ाई कर रहा है और इतनी बड़ी रकम उसके पास नहीं है। जद्दोजहद के बाद 50 हजार रुपये पर सहमति बनने पर उन्होंने उसे जाने दिया।

पुलिस ने योजनाबद्ध तरीके से पैसे लेने युवक को रेस्टोरेंट में बुलाया

11 सितंबर को परिवार वालों ने फिर से फोन कर मोहित से उस दिन तय हुई रकम मांगी और न देने पर दुष्कर्म के मामले में फंसाने की धमकी दी. इस पर वह रुड़की गंगनहर कोतवाली पहुंचा और उसने पुलिस को सारा किस्सा बताया। पुलिस ने योजनाबद्ध ढंग से मोहित गिरी के माध्यम से राशि के ससुर वीरेंद्र कुमार को रकम लेने के लिए रेलवे रोड स्थित एक रेस्टोरेंट पर बुला लिया। वीरेंद्र कुमार ने जैसे ही युवक से 50 हजार रुपये लिए तो पुलिस ने इसे गिरफ्तार कर लिया।

पूरा परिवार काफी समय से युवकों को जाल में फंसाकर रकम ऐंठ रहा था

एसपी देहात मणिकांत मिश्रा ने बताया कि इसके बाद वीरेंद्र के बेटे अनंत वर्मा और बहू राशि को भी गिरफ्तार कर लिया गया। एसपी ने बताया कि पूरा परिवार काफी समय से युवकों को जाल में फंसाकर रकम ऐंठ रहा था। रुड़की शहर के ही तीन युवकों से इस परिवार ने तीन लाख से अधिक की रकम ऐंठने का पता चला है.हरिद्वार और सहारनपुर के युवकों से ऐसा किए जाने की सूचनाएं मिल रही हैं। अभी तक करीब पांच लोगों से रकम ऐंठने की बात सामने आ चुकी है। गिरोह का शिकार बने युवकों के बारे में जानकारी जुटाई जा रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here