बिना कोचिंग के पहली बार में पास की गेट की परीक्षा, हरदा ने की उज्ज्वल भविष्य की कामना

देहरादून : मोदी सरकार पकौड़ा तलने को रोजगार बताती है जबकि कांग्रेस मोदी सरकार द्वारा दिए गए इस बयान का जमकर विरोध करती आ रही है और हर बार जमकर सत्ता पक्ष को घेरती दिखती है. उत्तराखंड में बेरोजगारी का क्या आलम है ये सब जानते हैं. लेकिन उत्तराखंड के चमोली में एक नौजवान ने एमटेक की पढ़ाई और सरकारी नौकरी की तैयारी को छोड़ पकौड़े तलने का ही काम शुरु किया.

पीपलकोटी के सागर शाह को एमटेक करने से बेहतर पकौड़ा तलना लगा इसीलिए उसने एनआईटी में एडमिशन नहीं लिया और पकौड़े तल रहा है.

हरीश रावत की फेसबुक पोस्ट

वहीं पूर्व सीएम हरीश रावत ने सागर शाह को उनके संघर्ष के लिए बधाई दी. हरीश रावत ने सोशल मीडिया के जरिए सागरको बधाई देते हुए उनके उज्ज्वल भविष्य की मंगलकामनाएं की। हरीश रावत ने कहा कि आपका संघर्ष उत्तराखंड के युवाओं के लिए प्रेरणादायी है। जब भी सम्भव होगा मैं सागर शाह से मिलने का प्रयास करूंगा।

पहली कोशिश में बिना कोचिंग के पास की गेट की परीक्षा

आपको बता दें कि पीपलकोटी के सागर शाह ने अपने पहले ही कोशिश में बिना किसी कोचिंग के गेट की परीक्षा पास की थी. लगभग एक महीने पहले आए रिज़ल्ट में उसकी रैंक 8000 के लगभग रही. सागर ने बताया कि रैंक के हिसाब से उसे किसी नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी में एमटेक में एडमिशन मिल जाता लेकिन उसने एडमिशन नहीं लिया. क्योंकि वो फिलहाल पैसे कमाना चाहता है. आगे की पढ़ाई उसके लिए भारी है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here