VIDEO : अगर सबूत है तो दिखाएं, मैं भगवान को साक्षी मानकर इस्तीफा दे दूंगा : अरविंद पांडे

रुद्रपुर : उधमसिंह नगर के कुंडेश्वरी चौकी में हुए बवाल के बाद और कैबिनेट मंत्री सहित कइयों पर मुकदमा दर्ज होने के बाद कैबिनेट मंत्री अरविंद पांडे का बड़ा बयान सामने आया है. जिसमें कैबिनेट मंत्री अरविंद पांडे ने विपक्षी और पुलिस को चुनौती दी है.

10 मिनट में इस्तीफा देने को तैयार- अरविंद पांडे

जी हां गरदपुर पहुंचे कैबिनेट मंत्री अरविंद पांडे ने कुंडेश्वरी चौकी मामले में बयान देते हुए कहा कि अगर पुलिस के पास कोई भी दारोगा की पिटाई का वीडियो हुआ तो वो सबूत दिखाए. साथ ही कैबिनेट मंत्री ने चैलेंज करते हुए कहा कि अगर विपक्षी या पुलिस के पास कोई भी एक सबूत हो जो दिखा दे की दारोगा की पिटाई हुई है तो वो भगवान को साक्षी मानकर 10 मिनट में इस्तीफा देने को तैयार है.कैबिनेट मंत्री ने कहा कि ये एक षडयंत्र है मेरे खिलाफ और ये उन लोगों का काम है जो मुझे राजनीति से निपटाना चाहते हैं.

मैं मुकदमे के कारण ही यहां पहुंचा हूं-अरविंद पांडे

साथ ही कैबिनेट मंत्री ने कहा कि लोगों के साथ खड़ा होना मेरी जिम्मेदारी है औऱ मैं मुकदमों की वजह से ही यहां पहुंचा हूं…लेकिन ये मुकदमे जमीन कब्जा और हत्या के लिए नहीं बल्कि लोगों के साथ खड़ा होने और उनका हक दिलाने के लिए मुझमें हुए हैं. अरविंद पांडे ने साफ तौर पर उन लोगों को चुनौती दी है जिन्होने उनके समक्ष चौकी इचार्ज की पिटाई का आरोप लगाया है.

ये है मामला

गौर हो की 26 मार्च की सुबह कुंडेश्वरी पुलिस ने ग्राम जुड़का में अवैध खनन करने के आरोप में चार डंपरों को सीज किया था। पुलिस की इस कार्रवाई के विरोध में सैकड़ों खनन कारोबारियों और ट्रांसपोर्टरों ने प्रदेश के शिक्षामंत्री अरविंद पांडेय के नेतृत्व में मंगलवार को कुंडेश्वरी पुलिस चौकी का घेराव किया था। खनन व्यवसाय से जुड़े लोगों ने चौकी प्रभारी अर्जुन गिरि पर गंभीर आरोप भी लगाए। इस दौरान भीड़ में से कुछ लोगों पर चौकी प्रभारी के साथ अभद्रता, धक्का मुक्की और हाथापाई करने का आरोप लगाया गया। आरोपियों की धरपकड़ के लिए पुलिस की आठ टीमें गठित की गई हैं। इन टीमों ने टांडा उज्जैन निवासी एक नामजद उद्यमी समेत ग्राम गुलाजरपुर, जुड़का, पच्चावाला, गढ़ीनेगी, कुंडेश्वरी, मानकी फार्म स्थित आरोपियों के घरों पर दबिश दी। इनके अलावा आरोपियों की तलाश में पुलिस टीमें उनके संभावित जगहों पर दबिश दे रही है.

बड़ा सवाल ये

वहीं अरविंद पांडे ने पिटाई का वीडियो दिखाने का चैलेंज पुलिस औऱ विपक्षी को किया है. देखने वाली बात ये होगी की क्या विपक्षी और पुलिस कैबिनेट मंत्री के खिलाफ ऐसा कोई वीडियो या कोई सबूत पेश कर पाएगी. पुलिस चौकी इंचार्ज के लिए ये काफी गंभीर चुनौती है. जिससे वो वीडियो वर्दी में लगे दाग को भी साफ करने में काम आएगी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here