बात बन जाएगी तो,उत्तराखंड सरकार की मौज आ जाएगी, जानिए कैसे ?

देहरादून- बचत तो एक रुपए की भी हो तो आदमी बहुत खुश हो जाता है।ये तो 250 करोड़ का सवाल है। जी हां, अगर दूसरे दौर की बात भी ठीक-ठाक रही तो उत्तराखंड सरकार की मौज आ जाएगी। सरकार को हर साल ढाई सौ करोड़ तो बचेंगे ही पहाड़ में सेहत के सवाल भी बहुत हद तक हल हो जाएंगे।

जी हां कल और परसों दो दिन बात-चीत की टेबल पर माहौल खुशनुमा रहा और राज्य के अधिकारी सेना की मेडिकल कोर को प्रतिनिधि मंडल को सही तरीके से कन्वेंश कर पाए तो  उत्तराखंड के वीर चंद्र सिंह गढ़वाली मेडिकल कॉलेज और निर्माणाधीन अल्मोड़ा के मेडिकल कॉलेज को सेना चलाएगी। इससे दोनों पक्षों को फायदा होगा।

सेना और उत्तराखंड सरकार के बीच एक बार लखनऊ में बात चीत हो चुकी है। जबकि कल यानि 14 और 15 मई सेना का एक प्रतिनिधिमंडल सूबे के दौरे पर आने वाला है।

सेना के हाथ में मेडिकल कॉलेज जाने के बाद जहां दोनों कॉलेजों का रुतबा बढ़ जाएगा वहीं पहाड़ों में पटरी से उतर चुकी स्वास्थ्य सुविधाओं को बड़ी राहत मिलेगी।

इसके अलावा सरकार को तकरीब ढाई सौ करोड़ के राजस्व का फायदा भी होगा और सरकार फैकल्टी और संसाधन जुटाने के झंझट से भी बच जाएगी। वहीं भारतीय सेना को अपने पूर्व सैनिकों और मौजूदा सैन्य कर्मियों को करीब मे ही अस्पताल मिल जाएगा।

बहरहाल सेना का प्रतिनिधिमंडल दो दिवसीय दौरे पर कल पहुंच जाएगा। सरकार की ओर से भी दोनों मेडिकल कॉलेजों को प्रतिनिधिमंडल के खैरमकदम के निर्देश दिए जा चुके हैं।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here