किसान धरना प्रदर्शन करेंगे, तो भैंसों का दूध कौन निकालेगा: धीरेंद्र

कल बहादराबाद के थाने में जिला पंचायत चुनाव में की गई धांधली के खिलाफ कांग्रेस कार्यकर्ताओं और किसानों की ओर से अपनी भैंसों को पुलिस थाने में बांधे जाने को उत्तराखंड कांग्रेस के उपाध्यक्ष और प्रवक्ता धीरेंद्र प्रताप ने जायज ठहराया है। उन्होंने कहा कि जब किसान अपना सारा समय धरने प्रदर्शनों में लगाएगा तो उनकी भैंस का दूध कौन निकालेगा, इसलिए भैंसों को थाने में बांधना जायज है।

उन्होंने कहा कि भाजपा के राज में प्रतिपक्षी पार्टियों के नेताओं को जिस तरह से झूठे मामलों में फंसाया जा रहा है, वह अन्यायपूर्ण और लोकतंत्र की हत्या है। उन्होंने कहा कि हरिद्वार में हुए जिला पंचायत चुनाव में लोकतंत्र की हत्या हुई है। धनबल और सत्ता के सहारे लोकतंत्र का अपहरण किया गया है। ऐसे में स्थानीय विधायकों अनुपमा रावत, ममता राकेश का सड़क पर आना लोकतंत्र को बचाने की कवायद है।

उन्होंने कहा मुख्यमंत्री से जिला पंचायत चुनाव की जांच कराने की मांग की है। उन्होंने कहा कि जहां-जहां भी चुनाव में धांधली की गई है वहां पर फिर से चुनाव करवाए जाए। उन्होंने कांग्रेस कार्यकर्ताओं के खिलाफ झूठे मुकदमे वापस लेने की भी मांग की। उन्होंने इस मामले में भाजपा की सरकार और पार्टी की मिलीभगत सवाल उठाते हुए राज्य के गवर्नर से इस मामले में हस्तक्षेप की मांग की।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here