IAS दूल्हा और IAS दुल्हन ने सिर्फ 500 रुपये खर्च करके की शादी, मसूरी में हुई थी मुलाकात

हर लड़का लड़की और उसके माता पिता का सपना होता है कि वो अपने बच्चों की शादी धूमधाम से करें। हर लड़की का सपना होता है कि उसकी बारात धूम धड़ाके का साथ आए और उसे विदा कर ले जाए। वहीं बात जब पैसे वालों की होतो शादी में पैसा पानी की तरह बहाया जाता है। लेकिन एक आईएएस कपल ने एक नई मिसाल पेश की है। जी हां एक आईएएस कपल ने बिना दिखावे वाली शादी की और समाज को एक संदेश दिया। जिसे आज के समय में हर किसी को मानना चाहिए जिससे कई बेटी के पिता कर्जदार होने से बच जाएंगे और भविष्य के लिए पैेसों की बचत कर पाएंगे। कोरोना काल में इस तरह से कईशादियां हुई। लोगों ने सादे अंदाज में मंदिरों में शादी की जिसने 2016 के इस आईएएस जोड़ी की शादी की याद दिला दी।

बता दें कि मामला 2016 का औऱ मध्यप्रदेश के भिंड का है जहां IAS दूल्हा और IAS दुल्हन भी ने सिर्फ 500 रुपये में शादी हो गई। इस अनोखी शादी के गवाह बने भिंड़ कलेक्टर इलैया टी राजा जो खुद भी IAS हैं। 2013 में सिविल सर्विसेज परीक्षा पास करने वाले आशीष वशिष्ठ और सलोनी सिडाना ने बेहद ही सादे अंदाज में भिंड कोर्ट में शादी कर ली थी। उस समय आशीष वशिष्ठ गोहद में एसडीएम थे तो वहीं दुल्हन सलोनी आंध्रप्रदेश के विजयवाड़ा में पोस्टेड थीं। फिलहाल तो दोनों मध्य प्रदेश में ही अलग-अलग विभागों का काम देख रहे हैं।

मसूरी में हुई दोनों की पहली मुलाकात

मिली जानकारी के अनुसार दोनों आईएएस की पहली मुलाकात मसूरी के लाल बहादुर शास्त्री नेशनल एकेडमी ऑफ एडमिनिस्ट्रेशन में ट्रेनिंग के दौरान हुई थी। दोनों के बीच पहले दोस्ती हुई और दोस्ती प्यार में बदली। फिर दोनों नौकरी पर निकल गए। आईएएस आशीष को पहली पोस्टिंग एमपी में मिली तो वहीं सलोनी को आंध्रप्रदेश में भेजा गया। लेकिन प्यार बरकरार था। फिर एक दिन दोनों ने शादी के बंधन में बंधने का फैसला किया। भिंड में दोनों शादी के बंधन में बंधे वो भी सादे अंदाज में।  बता दें कि शादी में किसी तरह के दहेज आदि का लेन देन भी नहीं हुआ। शादी सादगी से हुई। सिर्फ दो मालाएं खरीदी गई। शादी की खुशी में सिर्फ कलेक्टोरेट में मिठाई बांटी गई। कलेक्टर ने अपने ऑफिस में दूल्हा-दुल्हन और उनके परिजनों को टी-पार्टी दी थी। आशीष मूलत: राजस्थान के अलवर और सलोनी पंजाब की जलालाबाद की हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here