कोरोना वैक्सीन लगाने के 130 दिन बाद स्वास्थ्यकर्मी की मौत, परिजनों ने इसको ठहराया जिम्मेदार

हरियाणा के गुरुग्राम में कोरोना की वैक्सीन लगाने के 130 घंटे यानी की 6 दिन बाद एक स्वास्थ्यकर्मी की मौत हो गई जिससे स्वास्थ्य विभाग में हड़कंप मच गया। हालांकि, अभी यह साबित नहीं हुआ है कि महिला स्वास्थ्यकर्मी की मौत कोरोना वैक्सीनेशन के कारण हुई है। बता दें कि महिला स्वास्थ्यकर्मी की मौत के बाद उसके परिवार वालों कोरोना वैक्सिनेशन को लेकर शिकायत दर्ज कराई है। वहीं गुरुग्राम सीएमओ ने कहा है कि स्वास्थ्यकर्मी की मौत की जांच चल रही है। पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट आने के बाद ही स्थिति साफ हो पाएगी।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार हरियाणा के गुरुग्राम जिले के भंगरौला प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में काम करने वाली 55 साल की राजवंती को 16 जनवरी को कोरोना का टीका लगाया गया था। सीएमओ वीरेंदर यादव ने बताया कि शुक्रवार को राजवंती के परिजन ने उनके अचानक मौत की जानकारी दी। हालांकि, मौत का किसी भी तरह का कनेक्शन कोरोना वायरस से होने के कोई सबूत नहीं हैं।

राजवंती की कृष्णा नगर कॉलोनी स्थित उनके आवास पर मौत हुई। सीएमओ ने बताया कि उनकी मौत की जांच की जा रही है। सैंपल टेस्ट के लिए विसरा भेजे गए हैं। जिसके बाद सब साफ हो पाएगा। वहीं दूसरी ओर मृतक के परिजन मौत के लिए कोरोना की वैक्सीन को जिम्मेदार ठहरा रहे हैं। मृतका के परिजन ने थाने में कोरोना वैक्सिनेशन के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई है। परिवार वालों का कहना है कि ये टीकाकरण अभियान को तुरंत रोक दिया जाए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here