वो तितलियां यहां जिंदा हैं

तितली उड़ी
चमोली-
जिले के केदारनाथ वन्य जीव अभ्यारण्य में 55 प्रजाति की तितलियों की पहचान हुई है। हैरानी की बात तो ये है कि इनमें से कई प्रजाति तो मौजूदा वक्त में विलुप्त श्रेणी में रखी जा चुकी हैं। अभ्यारण्य में पहली बार मैदानी इलाके में पाई जाने वाली कामन मरमोन प्रजाति की तितली भी देखी गई।विलुप्ती की कगार में अपना नाम लिखवा चुकी तितली प्रजातियों की हिमालयी क्षेत्र में पाए जाने से जंगलात महकमा खासा उत्साहित हैं।
 चमोली जिले की सीमांत मंडल घाटी में स्थित केदारनाथ वन्य जीव अभ्यारण्य में आयोजित बटरफ्लाई मीट में उत्तराखंड के अलावा उत्तर प्रदेश, राजस्थान, केरल व पूर्वी भारत के विभिन्न राज्यों के प्रकृति प्रेमियों ने शिरकत की। केदारनाथ वन्य जीव अभ्यारण्य के जंगलों में प्रकृति प्रेमियों ने तितलियों की 55 प्रजाति की पहचान की। इस बटरफ्लाई मीट के दौरान जानकारों ने जिन विलुप्त प्रजातियों की पहचान की उनमें कामन ब्लू अपोलो, गढ़वाल वुडब्राउन और सिटेरियर जैसी दुर्लभ तितलियां शामिल हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here