उत्तराखंड की इन मांओं के जज़्बे को सलाम, खबर पढ़कर आप भी कहेंगे वाह…

देहरादून : लोग सही कहते है पढने लिखने की कोई उम्र सीमा नहीं होती है लेकिन अगर इन्सान के अन्दर कुछ कर दिखाने का जज्बा हो तो वो कुछ भी कर सकता है. चाहे बच्चा हो या बूढ़ा, महिला हो या पुरुष, अमीर हो या गरीब…बस कुछ कर दिखाने का हौंसला दिन में होना चाहिए…फिर ऐसे में समाज को भी किनारे कर देना चाहिए. कुछ लोग सोचते हैं कि ऐसा करने पर लोग क्या कहेंगे, वैसा करने पर लोग-समाज क्या कहेगा…लेकिन इन सब को दरकिनार कर अपनीं मंजिल पर ध्यान देना चाहिए…जो करके दिखाया रामनगर के मोहल्ला खताड़ी निवासी शहनाज (34) और मोहल्ला हनुमानगढ़ निवासी मुन्नी देवी (48) ने.

जी हां इन दोनों महिलाओं ने अपनी बेटियों के साथ 12 की परीक्षा दी और बाकि महिलाओं को जो की किसी कारण नहीं पढ़ पाई उनको अच्छा संदेश दिया.

पति से हुआ तलातक, बच्चों ने किया मां को पढ़ाई के लिए प्रेरित 

मिली जानकारी के अनुसार यह दोनों महिलाएं शुक्रवार को रामनगर के जीपीपी इंटर कॉलेज में 12वीं की हिंदी की परीक्षा देने पहुंची. इनमें से एक मोहल्ला खताड़ी निवासी शहनाज (34) ने बताया कि उसके पति ने कुछ साल पहले उसका पति से तलाक हो गाया. महिला ने कहा कि वो बचपन से ही अच्छे स्कूल में पढऩे की इच्छा थी। माता-पिता की गरीबी की वजह से वह 7वीं से आगे पढ़ नहीं सकी। इसके बाद माता-पिता ने उसकी शादी करा दी। शादी के कुछ समय बाद पति ने तलाक दे दिया। तीन बच्चों को लेकर वह अपने मायके आ गई। बच्चों ने उसे पढ़ाई के लिए प्रेरित किया। कक्षा आठवीं, नवीं तक बच्चों के साथ पढ़ाई की। इसके बाद पहली बार में ही हाईस्कूल पास किया। 11वीं कक्षा पास करने के बाद इस बार वह इंटर बोर्ड की परीक्षा दे रही है। शहनाज ने बताया कि उसकी बेटी अरीबा भी जीजीआइसी में 12वीं बोर्ड की परीक्षा दे रही है।

दूसरी महिला पति की जगह नौकरी करती हैं

वहीं इसके अलावा दूसरी महिला जो की मुन्नी देवी जो की मोहल्ला हनुमानगढ़ निवासी हैं..भी 12वीं की परीक्षा देने पहुंची. उन्होंने बताया कि उनके पति के देहांत की बाद उनको पति की नौकरी मिली…इस वक्त वो जीजीआइसी में नौकरी करती हैं। आगे बढ़ने के लिए उन्होंने पहले 8वीं की परीक्षा दी औऱ पास की. जिसके बाद स्टॉफ में कुछ लोगों ने उसे पढऩे के लिए प्रेरित किया। इसके बाद उसने हाईस्कूल का फार्म भरा। पहली बार फेल हो गई और दोबारा प्रयास करने पर हाईस्कूल पास हुई। इस बार वह इंटर बोर्ड की परीक्षा दे रही है। उसकी बेटी रुचि भी इस बार इंटर की परीक्षा दे रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here