हरिद्वार : हाईटेंशन तार की चपेट में आने से बस जलकर खाक, 20 झुलसे

हरिद्वार : उत्तराखंड में एक बार फिर बिजली विभाग की बड़ी लापरवाही के चलते एक बड़ा हादसा हो गया गनीमत रही की किसी की जान को नुकसान नहीं हुआ लेकिन इस हादसें में कई लोग गंभीर रुप से घायल हो गए.

हरिद्वार में मंगलावर सुबह एक बड़ा हादसा हो गया। हरिद्वार में एक फैक्ट्री कर्मचारियों से भरी बस बिजली लाइन की चपेट में आ गई। जिससे बस आग में लग गई। इस हादसे में 20 से ज्यादा कर्मी झुलस गए। वहीं एक महिला कर्मी को गंभीर हातल में हायर सेंटर रेफर किया गया है। बस में करीब 50 कर्मी सवार थे।

ऊपर से गुजर रही हाईटेंशन बिजली लाईन का तार बस को छू गया

हरिद्वार सिडकुल स्थित एक कम्पनी की बस रोजाना की तरह कलियर क्षेत्र से कर्मचारियों को लेने आई थी। बस में अलग-अलग गांव से कर्मचारी फैक्ट्री जाते है. मंगलवार सुबह बस इनायतपुर से सिडकुल की ओर जा रही थी। जैसे ही बस हद्दिवाला के पास पहुंची तो सड़क के ऊपर से गुजर रही हाईटेंशन बिजली लाईन का तार बस को छू गया। इस कारण बस में करंट फैल गया और अचानक आग लग गयी।

एक की हालत गंभीर

आग लगते ही कर्मियों में चीख पुकार मच गई। बस में सवार लोग जान बचाने के लिए भागे।  करीब 10 से अधिक बुरी तरह झुलस गए औऱ 10 लोग हल्के रुप से। मौके पर भारी संख्या में ग्रामीणों की भीड़ जमा हो गयी। वहीं सूचना परिजनों को मिली तो वह भी घटनास्थल की ओर निकले। मौके पर पहुंची पुलिस ने घायलों को रुड़की सिविल अस्पताल भिजवाया है। वहां 20 साल की निशा की हालत गंभीर देखते हुए हायर सेंटर रेफर किया गया है।

ग्रामीणों ने किया प्रदर्शन

वहीं वहां पहुंचे आक्रोशित ग्रामीणों ने ऊर्जा निगम के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। ग्रामीणों का कहना था कि निगम की लापरवाही के कारण यह हादसा हुआ है। हाईटेंशन लाईन का तार पिछले कई दिनों से सड़क पर झूल रहा था लेकिन किसी ने इसकी ओर ध्यान नही दिया। ग्रामीणों ने दोषी कर्मचारियों पर कार्रवाई की मांग कर नारेबाजी कर हंगामा किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here