हरिद्वार : 32 साल से फरार चल रहा आरोपी गिरफ्तार, 1981 में की थी हत्या

लक्सर पुलिस को देर रात बड़ी कामयाबी हाथ लगी. वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक और ग्रामीण पुलिस अधीक्षक के निर्देशानुसार लक्सर कोतवाल बिरेंद्र सिंह नेगी समेत रायसी पुलिस चौकी प्रभारी बृजपाल सिंह के नेतृत्व में गठित की गई। एक टीम द्वारा 32 साल पहले जिला सत्र न्यायालय में विचाराधीन हत्या जैसे संगीन मामले में वांछित और जमानत के आधार पर आज तक फरार चल रहे अभियुक्त वेदपाल पुत्र अतर सिंह निवासी प्रतापपुर तकरीबन हफ्ते भर की कड़ी मेहनत के बाद धर दबोच लिया गया।

1981 में की थी हत्या, 1988 को हुई थी सजा

जानकारी के मुताबिक लक्सर कोतवाली क्षेत्र के प्रतापपुर गांव निवासी तीन लोगों  ने वर्ष 1981 में सुल्तानपुर में एक व्यक्ति गोली मारकर हत्या कर दी थी। पुलिस ने तीनों के खिलाफ  मुकदमा दर्ज कर लिया था। बाद में उन्हें अदालत से जमानत मिल गई थी।  मामले की सुनवाई तत्कालीन सत्र न्यायालय सहारनपुर में हुई थी। सुनवाई के दौरान एक आरोपी की मौत हो गई थी। जबकि बाकी दोनों श्रवण और वेदपाल निवासी प्रतापपुर को 1988 में कोर्ट ने आजीवन कारावास की सजा सुनाई थी, लेकिन दोनों आरोपी फरार हो गए थे।

ऐेसे बिछाया अपराधी को दबोचने के लिए जाल

लक्सर कोतवाली पुलिस के मुताबिक 32 साल से फरार कुख्यात वेदपाल सत्र न्यायाधीश की खंडपीठ के समक्ष विचाराधीन एक हत्या के मामले में वांछित चला आ रहा था, जिसके द्वारा 32 साल पहले अपनी जमानत तो करा ली गई लेकिन तब से लेकर आज तक उक्त मामले में यह आरोपी पुलिस की आंखों में धूल झोंक कर फरार चल रहा था। वहीं जब मामले को न्यायालय ने गंभीरता से लिया तो पुलिस द्वारा इसकी जबरदस्त तलाश शुरू की गई, जहां बीते दिन लक्सर कोतवाली के रायसी पुलिस चौकी में तैनात बृजपाल सिंह द्वारा वांछित अपराधी के व्यापार से संबंधित एक व्यापारी बनकर इस तक पहुंचने के लिए जाल बिछाया गया और 4 रातों तक इस कुख्यात अपराधी के घर और खेतों में इंतजार करने के बाद जब इसके छुपे होने का सुराग हाथ लगा तो पुलिस द्वारा इसे हरिद्वार में ज्वालापुर कोतवाली क्षेत्र के एक्कड़ कलां गांव से इसे धर दबोच लिया गया।

वहीं पुलिस द्वारा अभी से संबंधित सत्र न्यायाधीश की खंडपीठ के समक्ष पेश करने की तैयारी कर रही है  पुलिस द्वारा इसे एक बड़े कामयाबी के रूप में देखा जा रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here