हरदा का वार : अमित शाह ने CM धामी की एडवांस तारीफ तो कर दी लेकिन सहायता एडवांस नहीं दी

देहरादून। आज सोमवार को हरीश रावत ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर सरकार पर जमकर हमला किया। हरीश रावत ने राज्य सरकार और केंद्र सरकार पर गंभीर आरोप लगाए। पीसी कर हरीश रावत ने सरकार पर एक के बाद एक कर कई हमले किए। हरीश रावत ने कहा कि राज्य सरकार आपदा प्रबंधन में पूरी तरह से फेल साबित हुई है। हरीश रावत ने भाजपा सरकार पर हमला करते हुए कहा कि कांग्रेस ने उधम सिंह नगर और नैनीताल में आपदा की स्थिति देखने के बाद सरकार को पांच दिन का समय दिया था। लेकिन सरकार आपदा प्रबंधन में रही फेल, स्थिति में सुधार का कोई प्रयास नहीं हुआ।

हरीश रावत का केंद्र सरकार पर हमला

हरीश रावत ने कहा कि अमित शाह को 1000 करोड़ रुपये की सहायता एडवांस देकर जाना चाहिए था। कहा कि सीएम धामी की एडवांस तारीफ तो कर दी लेकिन सहायता एडवांस नहीं दी. हरीश रावत ने कहा कि आपदा मानकों में बदलाव हो.कांग्रेस अपने घोषणा पत्र में आपदा मानकों में बदलाव का मसला शामिल करेगी। कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष गणेश गोदियाल नेे ऐलान करते हुए कहा कि 28 को कांग्रेस विरोध प्रदर्शन करेगी । आपदा प्रबंधन में सरकार के सुस्त रवैये के खिलाफ हर जिले में उपवास होगा।

प्रेस कॉन्फ्रेंस में दिखाई बीजेपी कार्यकर्ता की वीडियो

हरीश रावत ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में एक वीडियो भी दिखाई जो की बीजेपी कार्यकर्ता द्वारा ही भेजे जाने का दावा किया गया। वीडियो में एक केंद्रीय मंत्री के साथ बीजेपी कार्यकर्ताओं की बातचीत का है वीडियो वायरल हुआ। जिसमे पांच दिनों तक अहेतुक सहायता ना मिलने की बात कही जा रही है।

अमित शाह को घेरा

आगे हरीश रावत ने बड़ा बयान देते हुए कहा कि सरकार कान में रुई डाल कर बैठी है। हरीश रावत ने केंद्र सरकार को भी घेरा और कहा कि अमित शाह ने 36 घंटे पहले अलर्ट का बयान दिया फिर भी सरकार सोई रही। पुलिस तक को नहीं बताया गया। हरदा ने कहा कि न मुनादी हुई और न जानकारी दी गई। लोगों के घरों में आधी रात को पानी घुस गया और लोगों को अपना आशियाना छोड़ कर भागना पड़ा।

रुद्रपुर में गलियों में बाढ़ की गंदगी साफ करने की कोई व्यवस्था नहीं-हरदाSet featured image

हरीश रावत ने बयान देते हुए कहा कि रुद्रपुर में गलियों में बाढ़ की गंदगी साफ करने की कोई व्यवस्था नहीं है। खुद डीएम को सफाई करवाने के लिए ज्ञापन देने जाना पड़ा। हरीश रावत ने कहा कि सरकार एक जगह बताए जहां 36 घंटे से पहले अहेतुक सहायता पहुंची। हरदा ने कहा कि अब हेलीकॉप्टर से सहायता हो रही है।

मित शाह को 1000 करोड़ रुपये की सहायता एडवांस देकर जाना चाहिए था-हरदा

वहीं हरीश रावत ने आपदा राहत के लिए मुआवजे के मानकों को लेकर भी नाराजगी जताई। हरीश रावत ने मानव क्षति पर कम से कम 10 लाख मुआवजे की मांग की।हरीश रावत ने धान की फसल को लेकर भी बयान दिया और कहा कि किसानों को बड़ा नुकसान हुआ है। पंजाब की तरह रकबे के आधार पर तत्काल क्षतिपूर्ति मिले।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here