बड़ी खबर। हरक को बीजेपी छोड़ने का मलाल! बोले, इरादा नहीं था

 

उत्तराखंड के पूर्व कैबिनेट मंत्री और मौजूदा वक्त में कांग्रेस नेता हरक सिंह रावत ने बड़ा बयान दिया है। हरक सिंह रावत ने कहा है कि वो बीजेपी छोड़ना नहीं चाहते थे।

एबीपी गंगा के एक कार्यक्रम में चर्चा के दौरान हरक सिंह रावत से पूछा गया कि उनका राजनीतिक पूर्वानुमान कैसे गलत हो गया?  इस सवाल के जवाब में हरक सिंह रावत ने बड़ा बयान दिया है। हरक सिंह रावत ने कहा है कि वो बीजेपी छोड़ना नहीं चाहते थे। हरक सिंह रावत ने कहा है कि बीजेपी छोड़ने का इरादा नहीं था। प्रदेश में कांग्रेस को लेकर पूरा माहौल था। हरक ने दावा कि कांग्रेस की 37-38 सीटें आने की उम्मीद थी। हरक ने कहा कि वो पार्टी के झंडे को देखते हैं। झंडा अगर किसी के घर पर लगा है तो इससे पता चलता है कि लोग उस पार्टी के पक्ष में हैं। हरक ने कहा कि उन्हें लोगों के घरों पर कांग्रेस के झंडे नहीं दिखे।

हरक सिंह रावत ने कहा है कि लोगों का पीएम मोदी के लिए प्रेम था और यही वजह बीजेपी की वापसी के लिए अहम रही।

हरक सिंह ने कहा है कि वो बीजेपी सरकार में एक फेल कैबिनेट मंत्री रहे। हरक ने कहा वो अपने मन के काम नहीं कर पाए। कोटद्वार से चुनाव मन लड़ने के मसले पर भी उन्होंने कहा कि, उनका मन गवाही नहीं दे रहा था। कोटद्वार में मेडिकल कॉलेज न दे पाना भी कोटद्वार से चुनाव न लड़ने की एक वजह रही।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here