हल्द्वानी पूनम हत्याकांड : पुलिस-SIT टीम चला रही अंधेरे में तीर, दावे खोखले

हल्द्वानी के गौरापड़ाव में हुए बहुचर्चित पूनम हत्याकांड को को एक महीना बीत जाने के बाद भी पुलिस और एसआईटी टीम अंधेरे में ही तीर चला रही है। पिछले महीने 27 अगस्त की रात घर में घुसकर अज्ञात बदमाशों ने 42 वर्षीय पूनम पांडे की निर्मम हत्या कर उसकी बेटी अर्शा पांडे को भी गंभीर रूप से घायल कर दिया था।

पुलिस द्वारा बनाई गई 18 जांच टीमें और हाईकोर्ट के निर्देश पर गठित की गयी एसआईटी टीम 1 महीने बाद भी पूनम हत्याकांड का खुलासा करने में पूरी तरह से नाकाम साबित हुई है। भले पुलिस अधिकारी खुलासे के करीब औऱ कई सबूत होने के दावे कर रही है लेकिन नतीजा ये है कि पुलिस इस मामले को और आऱोपियों तक पहुंचने में नाकाम है.

यही नही 2 दिन में केस खोलने का दावा करने वाली पुलिस 1 महीने बाद भी पूनम हत्याकांड को सुलझाने में एक कदम भी आगे नहीं बढ़ पाई है, लिहाजा लोगों का अब पुलिस की कार्यप्रणाली से विश्वास उठता जा रहा है। हालांकि पुलिस के अधिकारी फिर से अपना वही रटा रटाया राग अलापते नजर आ रहे हैं कि जल्द ही हत्याकांड का खुलासा कर दिया जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here