हल्द्वानी : धान खरीद की जांच में जुटा खाद्य विभाग, होगी सख्त कार्रवाई

हल्द्वानी (योगेश शर्मा) : प्रदेश में राज्य सरकार द्वारा रखे गए धान खरीद के लक्ष्य को 300 निजी एजेंसियों ने मात्र डेढ़ महीने के भीतर पूरा करते हुए 90 लाख कुंतल धान क्रय किया है. किसानों से खरीदे गए धान का भुगतान करने के लिए अब इन एजेंसियों ने सरकार से बजट की मांग की है. इतने कम समय में धान खरीद के लक्ष्य को पूरा करने पर ये एजेंसियां शक के दायरे में आ गई हैं, जिसके बाद अब खाद्य विभाग धान के स्टॉक की जांच में जुट गया है.

जानकारी के मुताबिक कई निजी एजेंसियां और मिल स्वामियों ने कागजों में अपनी धान खरीद के लक्ष्य को पूरा हुआ दिखाया है. फिलहाल, खाद्य नियंत्रक विभाग एजेंसियों और मिल स्वामियों द्वारा निर्धारित लक्ष्य में खरीदे गए धान के स्टॉक की जांच में जुट गया है.

विभाग के अधिकारियों का कहना है कि अगर एजेंसियों द्वारा धान खरीद में कोई कमी पाई गई तो उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई अमल में लाई जाएगी.

संभागीय खाद्य अधिकारी ललित मोहन रयाल ने बताया कि निजी धान क्रय एजेंसियों और मिल स्वामियों को 5.5 मैट्रिक टन धान खरीद का लक्ष्य दिया गया था, लेकिन एजेंसियों और मिल मालिकों द्वारा कागज पर मात्र डेढ़ महीनों में निर्धारित लक्ष्य से अधिक 9 लाख मैट्रिक टन धान की खरीद दिखाया जा रहा है. उन्होंने बताया कि इतने कम समय में निर्धारित लक्ष्य से ज्यादा धान की खरीद हो चुकी है , अब इन एजेंसियों को धान खरीदने से  मना कर दिया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here