हल्द्वानी : लॉकडाउन में बढ़े महिला अपराध, आए उत्पीड़न के इतने मामले सामने

हल्द्वानी- महिलाओं को सशक्त बनाने के लिए महिला आयोग के तत्वाधान में हल्द्वानी ब्लॉक सभागार में एक जागरूकता शिविर आयोजित किया गया। महिला आयोग की अध्यक्ष विजया बड़थ्वाल ने शिविर में आई हुई महिलाओं को शपथ भी दिलाई। उन्होंने कहा कि समाज में महिलाओं को बिल्कुल भी भेदभाव का शिकार नहीं होना है। साथ ही अपने घर के आस-पास में हो रहे किसी भी तरह के उत्पीड़न और हिंसा के खिलाफ एकजुट होकर आवाज़ उठाएं

उन्होंने कहा की महिलाएं चुप्पी तोड़े और अपने खिलाफ हो रही हिंसा या उत्पीड़न के खिलाफ खुलकर सामने आए। पहले तो वह पुलिस में शिकायत करें। पुलिस किसी तरह की ढिलाई बरतती है तो वह सीधे महिला आयोग में शिकाउत करें। उन्होंने कहा कि अन्य सालों की अपेक्षा महिला उत्पीड़न से जुड़े मामलों में बढ़ोतरी हुई है। इस साल करीब महिला उत्पीड़न के 1200 मामले आए हैं जिनको संज्ञान में लेकर उचित कार्यवाही की जा रही है, सबसे बड़ी चुनौती यही है कि महिलाओं को जागरूक कैसे किया जाए क्योंकि यदि महिलाएं जागरूक हो जाएंगी तो वे खुद पर हो रहे उत्पीड़न के खिलाफ आवाज उठा पाएंगी, उन्होंने महिलाओं से आह्वान किया कि समाज में दहेज प्रथा, भ्रूण हत्या, बाल विवाह से संबंधित मामलों में खुलकर आवाज उठाएं जिससे प्रदेश और राष्ट्र को विकसित करने में हम सबकी जिम्मेदारी हो सके।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here