लालची ससुरालियों की भेंट चढ़ी उत्तराखंड की एक औऱ बेटी, लॉकडाउन में हुई थी शादी

रुद्रप्रयाग : उत्तराखंड में दहेज लोभियों के लालच की भेंट एक बेटी और चढ़ गई है। उत्तराखंड की एक आर बेटी और नव विवाहिता को शादी के 3 महीने बाद ही अपनी जान से हाथ धोना पड़ा। मामला पालाकुराली जिला रुद्रप्रयाग का है जहाँ एक 21 साल की विवाहिता ऊषा देवी का शव जंगल में पेड़ में फंदे से लटका मिला था।

लॉकडाउन में हुई थी ऊषा की शादी

बता दें कि ऊषा देवी की शादी 16 जून 2020 को लॉक डाउन के दौरान ग्राम पाला कुराली जिला रुद्रप्रयाग के रहने वाले अनुज सिंह पुत्र रघुवीर से हुई थी। लड़की के पिता का कहना है कि 27 सिंतबर को उनकी बेटी का उन्हें फ़ोन आया, फ़ोन पर वह रो रही थी और ससुराल पक्ष की तरफ से प्रताड़ित करे जानी की बात कह रही थी। कुछ समय बाद जब लड़की के पिता ने जब उसे फ़ोन किया तो लड़की के पति ने फ़ोन उठाकर लड़की के आत्महत्या करने की बात बताई। लड़की के पिता का कहना है कि ससुराल पक्ष लगातार लड़की को प्रताड़ित कर दहेज की मांग करता था। आरोप लगाया कि आए दिन उसे 2 लाख रुपयों की मांग को लेकर परेशान किया जा रहा था, लड़की के पिता ने पैसे के लिए ससुराल पक्ष से कुछ समय मांगा था लेकिन उनकी तरफ से लड़की पर लगातार ज्यादती बढ़ती जा रही थी।

पति करता है दुबई में नौकरी, लॉकडाउन के बाद आ गया घर

परिजनों ने आरोप लगाया कि उनकी लड़की ने कई बार इस बाबत अपने पिता से शिकायत भी की थी, लेकिन उसके पिता को यह मालूम नहीं था कि वह उन्हें अपनी बेटी को खोना पड़ सकता है। विवाहिता का पति दुबई में नौकरी करता था जो लॉक डाउन के दौरान घर आया हुआ था। वहीं लड़की के ससुर की दुगड्डा में परचून की दुकान है। लड़की के पिता ने ससुराल पक्ष के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई है। तहसीलदार ने मौके पर पहुंचकर घटना का संज्ञान लिया है और जांच के बाद उचित कार्रवाई की बात कही है। वहीं लड़की के पिता ने एसडीएम से भी दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग करी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here