राज्यपाल ने की स्वयं सहायता समूहों की महिलाओं से मुलाकात, अधिकारियों को दिए ये निर्देश

चम्पावत : राज्यपाल बेबी रानी मौर्य ने मंगलवार को चम्पावत में ऐतिहासिक बालेश्वर मंदिर में पूजा अर्चना की। इसके साथ ही नवरात्र के पावन अवसर पर राज्यपाल ने चंद राजाओ की कुल देवी चम्पा देवी की भी पूजा अर्चना कर प्रदेश की खुशहाली एवं समृद्धि की कामना की। राज्यपाल मौर्य ने सर्किट हाउस में जनपद की विभिन्न महिला स्वयं सहायता समूहों के प्रतिनिधियों से मुलाकात की। राज्यपाल ने महिलाओं से स्वयं सहायता समूहों द्वारा तैयार किये गये उत्पादों के बारे में जानकारी ली। उन्होंने समूह की महिलाओं द्वारा निर्मित उत्पादों की सराहना करते हुए कहा कि यहां की महिलाएं बहुत मेहनती हैं औऱ अपने परिवार को की देखभाल के साथ ही इतना बेहतरीन काम करके अपनी आजीविका भी अर्जित कर रही हैं। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिये कि स्थानीय उत्पादों का वृहद स्तर पर प्रचार-प्रसार किया जाय, ताकि महिलाओं की आर्थिक स्थिति मजबूत हो सके।

राज्यपाल मौर्य ने अधिकारियों को निर्देश दिये कि एक अनुसूचित जाति बाहुल्य आबादी वाले गांव को गोद लेकर उसे आदर्श ग्राम के रूप में विकसित किया जाय। जिसमें स्थानीय उत्पादों पर आधारित स्वरोजगार, महिला स्वयं सहायता समूहों तथा आत्म-निर्भर आर्थिकी को प्रोत्साहित किया जाय। राज्यपाल ने पुलिस अधिकारियों को निर्देश दिये कि नशे के खिलाफ अभियान चलाया जाय। युवा पीढ़ी को नशे से होने वाले नुकसान के प्रति जागरूक किया जाना आवश्यक है।

राज्यपाल ने कहा कि चम्पावत में पर्यटन की असीम संभावनाएँ है। इसके लिए ठोस कार्ययोजना तैयार की जाय, ताकि अधिक से अधिक पर्यटक यहां आ सके। बालेश्वर मंदिर में प्राचीनतम कलांकृतियां को एक संग्रहालय के रूप में संरक्षित किया जाय, ताकि यहां आने वाले पर्यटकों को इस संबंध में जानकारी मिल सके। इस अवसर पर जिलाधिकारी सुरेंद्र नारायण पांडे, पुलिस अधीक्षक लोकेश्वर सिंह सहित महिला स्वयं सहायता समूह की महिलाएँ उपस्थित थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here