राज्यपाल ने ‘बहादुर बिटिया’ को किया सम्मानित, बालिकाओं के लिए प्रेरणा है राखी

देहरादूनः राज्यपाल बेबी रानी मौर्य ने राजभवन में राष्ट्रीय वीरता पुरस्कार-2019 से पुरस्कृत बालिका राखी को सम्मानित किया। राज्यपाल मौर्य ने राखी को 10 हजार रुपये को नकद पुरस्कार भी दिया। अक्टूबर 2019 में पौड़ी जिले के गांव देवकुंडई की रहने वाली 11 साल की बालिका राखी ने तेंदुए के हमले से अपने चार साल के छोटे भाई राघव की जान बचाई थी।

राखी ने बहादुरी, सूझ-बूझ और हिम्मत के साथ अपने भाई को तेंदुए के हमले से बचाया। तेंदुए से भाई को बचाने में राखी को गंभीर चोटें भी आई थी। राष्ट्रपति ने राखी को राष्ट्रीय वीरता पुरस्कार से सम्मानित किया। राज्यपाल मौर्य ने कहा कि राखी के इस साहसपूर्ण कार्य से उसकी निर्णायक क्षमता और निडरता का पता चलता है।

राखी अभी कक्षा पांच में पढ़ रही है, उसे पढ़ाई पर भी पूरा ध्यान देने की जरूरत है। राखी समाज के सभी लोगों विशेषकरए बालिकाओं के लिये प्रेरणा है। राज्यपाल बेबे रानी मौर्य ने राखी को उज्ज्वल भविष्य की शुभकामनाएं दी। साथ ही राज्य बाल कल्याण परिषद को निर्देश दिया कि वे राखी के उपचार, पढ़ाई-लिखाई का नियमित अनुश्रवण करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here