पर्यटन और सेवा क्षेत्र से रोजगार बढ़ाने पर है सरकार का जोर

गैरसैंण-
  उत्तराखंड में साल 2020 तक राज्य की सभी योजना में डी0बी0टी0 लागू करना सरकार का मकसद है। राज्य के बेरोजगार पर्यटन से आजीवका कमाएं इसके लिए राज्य में पाँच हजार होम स्टे का निर्माण करना जबकि  एक लाख युवाओं को कौशल से परिपूर्ण बनाना सरकार का लक्ष्य है।
इसकी जानकारी आज बजट पेश करते हुए सूबे के वित्त मंत्री प्रकाश पंत ने सदन को दी। पंत ने कहा कि सरकार की मंशा सूबे के सभी जिलों में ट्रामासेंटर बनाने और ब्लड बैंक के साथ साथ आईसीयू की स्थापना करना भी है। इसके साथ ही आम आदमी का विश्वास सरकारी चिकित्सालयों में बढ़े इसके लिए संस्थागत प्रसव की दर  90 प्रतिशत तक लाना सरकार का लक्ष्य है।
वहीं  प्रत्येक घर मे  बिजली,प्रत्येक परिवार की रसोई एलपीजी से सुसज्जित रहे, राज्य के समस्त नागरिको का स्वास्थ्य बीमा हो। जबकि राज्य के एक लाख परिवारों  को आवासीय सुविधा मिल सके इसके लिए सरकार प्रयत्नशील है। वहीं पंत ने कहा कि  सेवा क्षेत्र मे राज्य सरकार  एक लाख व्यक्तियों  को रोजगार देने के लिए कृत संकल्प है।
250 से अधिक आबादी के गांव सड़क से जुड़े और गांव सौ फीसदी साक्षर हो इसके लिए बजट में प्राविधान किया गया है।  राज्य सरकार राज्य में सेवा क्षेत्र में विस्तार के लिए नये-नये आयामो में कार्य कर रही है ताकि रोजगार के अवसर पैदा हो सकें और  सेवा क्षेत्र से राज्य के सकल घरेलू उत्पाद में इजाफा हो सके इसके लिए सरकार जल्द ही सेवा क्षेत्र के लिए एक बड़ी नीति तय करेगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here