सरकार का आरोप : कांग्रेस के आपसी झगड़े के चलते सदन में नहीं हो पाई जरुरी विषयों पर चर्चा

देहरादून : शासकीय प्रवक्ता मदन कौशिक ने विधानसभा सत्र को लेकर आज प्रेस वार्ता की और सत्र की अहम जानकारी मीडिया के जरिए जनता तक पहुंचाई। इस दौरान सरकार ने कांग्रेस पर गंभीर आरोप लगाए। मदन कौशिक ने कहा कि 20 सितम्बर को बिजनेस कमेटी की बैठक हुई थी जिसमे उपनेता नेता प्रतिपक्ष शामिल हुए थे और तय हुआ था कि 4 विषयों पर सदन में चर्चा होगी लेकिन सदन की कार्यवाही शुरू होते ही कांग्रेस के विधायको ने बिजनेस कमेटी में तय किए गए एजेंडे को मानने से मना कर दिया। मदन कौशिक ने आरोप लगाते हुए कहा कि कांग्रेस के आपसी झगड़े के चलते उन विषयों पर चर्चा सदन में नहीं हुई जो जनता तक पहुंचने जरूरी थे।

सरकार के द्वारा जो काम काज सदन में हुआ उसकी जानकारी जनता तक पहुंचाने के लिए आज प्रेस वार्ता कर रहा हूँ। मदन कौशिक उत्तराखंड में आपदा के बाद विस्थापित गांवों को लेकर भी बोले। कांग्रेस ने 2013 की आपदा के बाद 2017 तक भाजपा की सरकार आने से पहले 2 गांव और 11 परिवारों को विस्थापित किया। 2017 -18 में 12 गांवों 177 परिवारों को विस्थापन किया। 2018 -19 में 6 गांव 151 परिवार विस्थापित किए। 2019 -20 में 7 गांव 360 परिवार विस्थापित किए। 2020 -21 3 गांव 137 गांव विस्थापित किए। पिथौरागढ़ में इस वर्ष आयी आपदा के बाद सरकार ने किया बेहतर काम.

कोविड 19 महामारी पर बोलते हुए मदन कौशिक ने कहा कि कोरोना वायरस महामारी घोषित होने के बाद महामारी से निपटने को लेकर सरकार ने किए बेहतर इंतजाम किए। कोविड सेंपल की धीमी गति के सवाल पर मदन कौशिक ने कहा कि कांग्रेस शासित राज्यों से ज्यादा तेजी से उत्तराखंड में कोरोना वायरस के सैम्पलों के टेस्ट हो रहे हैं। मदन कौशिक ने राजस्थान,महाराष्ट्र,छत्तीसगढ़ राज्यों के आंकडे रखे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here