त्रिवेंद्र सरकार की सरकारी स्कूलों के बच्चों को सौगात, ऐसा करने वाला बना पहला राज्य

देहरादून : उत्तराखंड की त्रिवेंद्र सरकार के द्वारा सरकारी स्कूलों में पढ़ने वाले छात्रों के साथ मदरसों में पढ़ने वाले छात्रों को मिड डे मिल योजना के तहत सप्ताह के पहले सोमवार को उच्च प्रोटीन युक्त दूध मुहैया कराया जएगा। जिसके लिए कार्ययोजना भी तैयार कर ली गयी है।

ऐसा करना वाला उत्तराखंड देश का पहला राज्य 

मुख्यमंत्री आंचल अमृत योजना के तहत छात्रों को दूध मुहैया कराया जाएगा, फोर्टीफाइड मीठा सुगंधित दूध भोजन माताओं के द्वारा तैयार कर वितरित किया जाएगा। प्राथमिक छात्रों को 100 मि.ली. और और जूनियर के छात्रों को 150 मिली. दूध बांटा किया जाएगा। खास बात ये है कि अगर सोमवार को कोई सार्वजनिक अवकाश होता है तो अगले दिन यानी मंगलवार को छात्रों को दूध वितरित किया जाएगा। योजना के तहत प्रतिवर्ष 12 करोड़ रुपये की आवश्यकता मिड-डे-मिल योजना के तहत केवल दूध वितरण पर खर्च होगा। जिसमें 6 करोड़ रुपये केंद्र सरकार देगी जबकि शेष 6 करोड़ रुपये की राशि राज्य सरकार वाहन करेगी। मिड-डे-मील योजना के तहत छात्रों को दूध वितरित करने वाला उत्तराखंड देश का पहला राज्य बनेगा।

अभी तक नहीं किया जाता था दूध वितरित

जी हां अभी तक किसी राज्य में मिड-डे-मील योजना के तहत छात्रों को दूध वितरित नहीं किया जाता था लेकिन उत्तराखंड में मिड डे मील योजना के तहत छात्रों को दूध वितरित किए जाने के बाद उत्तराखंड ऐसा पहला राज्य देश में होगा जो पौष्टिकता को देखते हुए छात्रों को दूध वितरित करेगा।

शिक्षा मंत्री अरविंद पांडे का बयान

शिक्षा मंत्री अरविंद पांडे का कहना है कि पढ़ाई के साथ साथ छात्रों को पौष्टिक आहार मिले इसी दिशा में सरकर ये पहल करने जा रही है,उत्तराखंड के छात्रों को बेहतर पौष्टिक आहार मिलेने के साथ छात्र स्वस्थ हो और बेहतर शिक्षा ग्रहण करें इसी उदेश्य के साथ यह योजना शुरू की गयी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here