आखिरी सफर पर निकले ज. बिपिन रावत, दी जाएगी 17 तोपों की सलामी, 800 सैनिक अंतिम यात्रा में

जनरल बिपिन रावत की अंतिम यात्रा शुरू हो गई है. अंतिम यात्रा में हजारों की संख्या में लोग मौजूद हैं. लोग सेना के वाहनों के साथ हाथ में तिरंगा लिए बिपिन रावत जिंदाबाद, बिपिन रावत अमर रहे नारे लगाते हुए दौड़ रहे हैं। आपको बता दें कि साथ ही 800 सैनिक भी अंतिम यात्रा में शामिल हुए हैं. सीडीएस बिपिन रावत को 17 तोपों की सलामी दी जाएगी. बिपिन रावत का अंतिम संस्कार शाम 5 बजे होगा.

सीडीएस बिपिन रावत की अंतिम यात्रा में नागरिकों ने “जब तक सूरज चांद रहेगा, बिपिन जी का नाम रहेगा” के नारे लगाए. सीडीएस की अंतिम यात्रा दिल्ली छावनी में बरार स्क्वायर श्मशान की ओर बढ़ रही है. चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ जनरल बिपिन रावत के पार्थिव शरीर को उनके आवास से बरार स्क्वायर श्मशान घाट ले जाया जा रहा है.
वहीं इससे पहले जनरल बिपिन रावत को सेना अध्यक्ष एम.एम. नरवणे, वायुसेना चीफ वी.आर. चौधरी और नौसेनाध्यक्ष एडमिरल आर. हरि कुमार ने श्रद्धांजलि दी. इसके साथ ही, चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया एनवी रमना ने भी आखिरी सलामी दी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here