उत्तराखंड से बड़ी खबर : इस विधानसभा सीट से चुनाव लड़ सकते हैं CM तीरथ रावत, एकमन से सबने दिया न्यौता, सुगबुगाहट तेज

उत्तरकाशी : मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत इन दिनों अपने दो दिवसीय उत्तरकाशी दौरे पर हैं। आज उनके दौरे का दूसरा दिन है। बता दें कि इससे पहले उन्होंने बड़कोट, नौगांव में क्वारन्टीन सेंटरों का निरीक्षण किया और मरीजों से मिलकर उनका हालचाल जाना। इसके बाद वह गंगोत्री रवाना हुए और वहां उन्होंने कार्यकर्ताओं और लोगों से मुलाकात कर वहां की समस्याओं को जाना और कई सौगातें उत्तरकाशी की जनता को दी। वही आरसीएम यमुनोत्री विधायक केदार सिंह रावत के घर पहुंचेेे और उनके माता के निधन पर दुख जताते हुए सांत्वना दी और शोक व्यक्त किया.

वही सीएम के गंगोत्री दौरे के बाद सुगबुगाहट तेज हो गई है कि सीएम तीरथ सिंह रावत गंगोत्री विधानसभा सीट से चुनाव लड़ सकते हैं। गौर हो किगंगोत्री सीट खाली हो गई है। वहीं वहां के कार्यकर्ताओं ने इस सीट से चुनाव लड़ने की अपील की है और सीएम को गंगोत्रीी विधानसभा सीट से चुनाव लड़ने का न्योता दिया है।

गौरतलब है कि गंगोत्री विधानसभा के विधायक के आकस्मिक निधन से गंगोत्री की सीट खाली चल रही है।।उत्तराखंड के मुख्यमंत्री की शपथ लेने के साथ ही पौड़ी गढ़वाल के सांसद व उत्तराखंड के मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत को शपथ लेने के 6 महीनों के अंदर किसी विधानसभा से चुनाव लड़ने की संबैधानिक मजबूरी है। अभी तक ये स्पष्ट नही हो सका था कि मुख्यमंत्री उत्तराखंड के किस विधानसभा से चुनाव लड़ेंगे। हालाँकि बीजेपी के कई वर्तमान विधायकों ने अपनी सीट खाली कर मुख्यमंत्री को चुनाव लड़ने का न्योता दिया। लेकिन अभीतक संशय की स्थिति बनी हुई थी।उत्तरकाशी के दौरे से ये संशय की स्थिति भी स्पष्ट हो गई है कि मुख्यमंत्री का गंगोत्री विधानसभा से चुनाव लड़ना तय है।

बीजेपी नेता लोकेन्द्र सिंह बिष्ट ने मुख्यमंत्री से कहा कि आपको माँ गंगा अपने मायके गंगोत्री विधानसभा में बुला रही है। जिला अध्यक्ष रमेश ने कहा कि ये जिले का सौभाग्य होगा कि मुख्यमंत्री इस विधानसभा से चुनाव लड़कर यहां का नेतृत्व करें। तमाम भाजपा कार्यकर्ताओं ने कहा कि ये उत्तरकाशी बीजेपी के लिए गर्व की बात होगी कि मुख्यमंत्री उत्तरकाशी जिले का प्रतिनिधित्व करें।

हालांकि बता दें कि सीएम के लिए कई विधायक अपनी सीट छोड़ने के लिए तैयार हैं लेकिन गंगोत्री सीट खाली है और यहां से सीएम के चुनाव लड़ने की उम्मीद ज्यादा है। बता दें कि इस दौरान सीएम के साथ राज्यमंत्री यतिस्वरानंद भी मौजूद थे जिन्होंने अपनी सीट छोड़ने के लिए भी कहा लेकिन उन्होंने गंगोत्री सीट से चुनाव लड़ने की सलाह भी सीएम को दी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here