उत्तराखंड में नशे के खिलाफ अभियान में गांधी जी के विचार महत्वपूर्ण : राज्यपाल

 

देहरादून: राज्यपाल बेबी रानी मौर्य ने राजभवन में राष्ट्रपिता महात्मा गांधी और पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री की जयंती के अवसर पर उनके चित्रों पर माल्यापर्ण कर श्रद्धाजंलि अर्पित की। राज्यपाल बेबी रानी मौर्य ने राजभवन में क्षय रोग के प्रति जनजागरूकता अभियान के तहत 71 टीबी सील का अनावरण किया। टीबी ऐसोसिएशन ऑफ उत्तराखंड ने जानकारी दी कि टीबी सील के विक्रय से प्राप्त धनराशि का उपयोग क्षय रोग के प्रति जनजागरूकता अभियान में खर्च किया जाता है। राज्यपाल ने भी 5 क्षय रोगियों को गोद लिया गया है।

राजभवन में ही आयोजित एक अन्य कार्यक्रम में राज्य्पाल ने वरिष्ठ पत्रकार और लेखक प्रयाग पाण्डेय की दो पुस्तकों ‘संयोगवश’ और ‘तपोभूमि में गांधी’ का विमोचन किया। राज्यपाल बेबी रानी मौर्य ने कहा कि राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के विचारों को पुस्तकों तक सीमित न रखा जाय। युवा पीढ़ी और स्कूली बच्चों को वाद-विवाद, चर्चा, विभिन्न प्रतियोगिताओं व कार्यक्रमों के माध्यम से गांधी जी के विचारों से अवगत कराया जाय।

उन्होंने कहा कि आज युवा पीढ़ी में नशा की बढ़ती प्रवृति चिन्ता का विषय है। नशे के विरूद्ध जागरूकता पैदा करने में गांधी जी के विचार आज पहले से भी अधिक प्रांसगिक व महत्वपूर्ण हो चुके है। उत्तराखंड में नशे के खिलाफ अभियान में गांधी जी के विचार महत्वपूर्ण हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here