चमत्कार और प्यार : कैंसर पीड़ित पिता के लिए गौरीकुंड स्थित तप्तकुंड का जल लेने दिल्ली से रुद्रप्रयाग पहुंची खुशबू

रूद्रप्रयाग : पिता और बेटी के रिश्ते और प्यार को शब्दों से बयां नहीं किया जा सकता है। बेटियों ने पिता के लिए कई मिसाले कायम की हैं। ऐसी सी मिसाल कायम की दिल्ली की खुशबू जयसवाल ने। जी हां खुशबू कैंसर पीडि़त पिता के लिए गौरीकुंड स्थित तप्तकुंड का जल लेने के लिए रुद्रप्रयाग पहुंची। इसे चमत्कार कहो या एक बेटी का प्यार लेकिन यह सच है कि इस तप्त जल से उसके पिता एक कैंसर ठीक हो रहा है। बता दें कि यह वाक्य चार-पांच दिन पुराना है लेकिन इस बेटी का पिता के लिए प्यार और इसकी मिसाल की कहानी सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रही है।

बता दें कि यूपी देवरिया निवासी खुशबू जायसवाल के पिता इस वक्त कैंसर की बीमारी से जूझ रहे हैं। उसके पिता का इलाज दिल्ली एम्स में चल रहा। तभी इस बीच खुशबू जायसवाल के एक रिश्तेदार ने उसके पिता को तप्तकुंड का जल पीने के लिए दिया था। यह उम्मीद थी कि जल से पिता को फायदा होगा। अब इस जल के सेवन से पिता का कैंसर लेवल तो चमत्कारी ढंग से घट गया। कैंसर लेवल 36 प्रतिशत से घटकर एक प्रतिशत पर आ गया। इस चमत्कार को जारी रखने के लिए ही खुशबू जायसवाल कोरोना कर्फ्यू के बीच तप्त कुंड का जल लेने के लिए दिल्ली से रुद्रप्रयाग पहुंच गई। तभरास्ते में पुलिसकर्मियों ने युवती को दिल्ली से आते वक्त बॉर्डर पर पुलिस ने रोक दिया। युवती केदारनाथ जाने की जिद्द पर अडी़ रही। युवती ने अपने पिता और तप्तकुंड के चमत्कारी जल के बारे में पुलिस को बताया तो वरिष्ठ उप निरीक्षक विजेंद्र सिंह कुमांई ने युवती को मौके पर ही जल उपलब्ध कराने का भरोसा दिलाया। उन्होंने फौरन गौरीकुंड चौकी प्रभारी योगेश कुमार से बात की। फिर वहां से तप्तकुंड का जल एक बोतल में मंगवाया गया और युवती को सौंपा और इसके बाद युवती दिल्ली के लिए रवाना हो गई। युवती पुलिस का शुक्रिया अदा किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here