विदेशी पर्यटकों ने ऋषिकेश पुलिस को कहा “थैंक्यू”….जानिए क्यों?

ऋषिकेश : एक बार फिर से उत्तराखंड की मित्र पुलिस ने “अतिथि देवो भव:” को साकार करते हुए विदेशियों का दिल जीता. विदेशियों ने एक बार फिर से देवभूमि की पुलिस को थैंक्यू कहा। देवभूमि की पुलिस और लोगों से प्रभावितो होकर ही शायद विदेशी देवभूमि आते हैं। वर्दी ने ये बताया कि वो सिर्फ अपने ही राज्य के लोगों के नहीं बल्की बाहरी राज्यों औऱ विदेशों से देवभूमि आने वाले के भी रक्षक है।

दरअसल हुआ यूं कि ऑस्ट्रेलिया से आए विदेशी पर्यटकों ने ऋषिकेश कोतवाली कंट्रोल रुम में फोन कर सूचना दी कि उनका बैग छूट गया है जिसमे उनका पासपोर्ट, कैमरा, पर्स और मोबाइल है। उन्होंने ये भी जानकारी  ऋषिकेश पुलिस को दी कि वह सभी लक्ष्मण झूला से टैक्सी बुक कराकर ऋषिकेश बस अड्डा आए थे. इस दौरान वो टैक्सी में बैग भूल गए। पुलिस ने तुरंत मुकदमा दर्ज कर सामान की खोज के लिए टीम लगाई।

कोतवाली निरीक्षक रिकेश शाह ने की टीम गठित

कोतवाली निरीक्षक रितेश शाह ने मामले को गंभीरता से लेते हुए टीमें गठित की औऱ साथ ही इसकी सूचना बस अड्डा चौकी को दी. निरीक्षक ने पुलिस टीम को आसपास के सभी सीसीटीवी कैमरा चेक करने के निर्देश दिए। टीम ने तुरंत बस अड्डे के आसपास लगे सीसीटीवी कैमरे को चेक किए तो जानकारी के अनुसार एक गाड़ी जाती दिखाई थी।

टैक्सी में छूटे मोबाइल के नंबर को सर्विलांस पर लगाया  

इसके बाद ऋषिकेश बस अड्डा और पुलिस कंट्रोल रूम के लगे हुए कैमरो का बारीकी से विश्लेषण करते हुए उस टैक्सी को ट्रेस कर पीछा किया गया. साथ ही पुलिस ने टैक्सी में छूटे मोबाइल के नंबर को सर्विलांस पर लगाकर लोकेशन ट्रैक कर टैक्सी ड्राइवर से विदेशियों का सारा सामान बरामद किया औऱ विदेशी पर्यटको को सौंपा। वहीं विदेशी पर्यटकों के द्वारा ऋषिकेश पुलिस की तत्काल कार्यवाही पर प्रशंसा की गई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here