महिला इंस्पेक्टर ने पेश की मिसाल, पिता की मौत की खबर सुनने के बाद भी स्वतंत्रता दिवस परेड को किया लीड

तमिलनाडु में एक इंस्पेक्टर ने स्वतंत्रता दिवस से एक दिन पहले अपने पिता को खो दिया। इसके बाद भी उन्होंने अपने आपको टूटने नहीं दिया और सर्वप्रथम अपने देश को रखा। पिता की मौत की खबर सुनने के बाद भी उन्होंने मजबूती से स्वतंत्रता दिवस की परेड को लीड किया।

इस दौरान इंस्पेक्टर ने कोरोना महामारी के चलते फेस मास्क पहना हुआ था। भले ही मास्क ने माहेश्वरी के चेहरे के हाव-भाव ढक लिया थे, लेकिन उन्होंने अपनी भावनाओं पर काबू करते हुए मजबूत आवाज के साथ परेड को लीड किया। इस दौरान जिला कलेक्टर शिल्पा प्रभाकर सतीश को गार्ड ऑफ ऑनर दिया गया। परेड के बाद माहेश्वरी अपने पति के साथ घर गईं।

तिरुनेलवेली इंस्पेक्टर एन माहेश्वरी के पिता का 14 अगस्त की रात को निधन हो गया था। इसके बावजूद अपने दुख को किनारे रखकर उन्होंने स्वतंत्रता दिवस की परेड को लीड किया। उन्होंने इस स्वतंत्रता दिवस पर अपने चेहरे पर दुख के भाव नहीं आने दिए। माहेश्वरी ने एक रात पहले ही अपने पिता के निधन की खबर सुनी थी, लेकिन अपनी ड्यूटी को व्यक्तिगत दुख से ऊपर रखकर वह सभी के लिए मिसाल बन गई हैं। परेड को लीड करने के बाद माहेश्वरी तुरंत पिता को अंतिम विदाई देने के लिए डिंगीगुल रवाना हो गईं।

हेश्वरी के पिता नारायणस्वामी की उम्र 83 साल थी। वह उम्र संबंधित परेशानियों के चलते काफी वक्त से बीमार थे। माहेश्वरी के पति बालामुरुगन तिरुनेलवेली सिटी पुलिस की इंटेलिजेंस यूनिट में शामिल हैं। बालामुरुगन हाल ही में कोविड-19 से ठीक होकर काम पर लौटे हैं। माहेश्वरी को भी दो हफ्ते तक क्वारंटीन रहना पड़ा। बता दें कि माहेश्वरी स्वतंत्रता दिवस परेड की रिहर्सल के साथ ही अपने बच्चों का ध्यान भी रख रही थीं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here