Exclusive वीडियो : खनन कारोबारियों ने कैबिनेट मंत्री के सामने चौकी इंचार्ज को पीटा!

काशीपुर में उस वक्त खनन कारोबारियों का तांडव देखने को मिला जब चौकी इंचार्ज ने खनन कारोबारियों के चार डंपरों को सीज कर दिया। जिसके बाद खनन कारोबारियों ने कैबिनेट मंत्री अरविंद पांडे की मौजूदगी में चौकी इंचार्ज से ना ही केवल गाली गलौज करें साथ ही उनके साथ धक्का-मुक्की भी शुरू कर दी। जिसके बाद चौकी इंचार्ज ने अपने कार्यालय में जाकर खनन कारोबारियों से अपनी सुरक्षा की।

बता दें कि विगत माह उधम सिंह नगर के एसएसपी बरिंदर जीत सिंह ने अवैध वसूली की सूचना पर काशीपुर कोतवाली क्षेत्र की कुंडेश्वरी चौकी को लाइन हाजिर कर दिया था। जिसके बाद बांसवाड़ा चौकी इंचार्ज अर्जुन गिरी को कुंडेश्वरी चौकी का प्रभार सौंपा गया। चौकी इंचार्ज अर्जुन गिरी ने मंगलवार प्रातः अवैध खनन की सूचना पर ग्राम जुड़का में अवैध खनन से भरे 4 डंपरों को सीज कर दिया और उन्हें चौकी ले आए। पुलिस की कार्यवाही खनन कारोबारियों को रास नहीं आई। जिसके बाद खनन कारोबारियों ने कैबिनेट मंत्री अरविंद पांडे को सूचना दी।

कैबिनेट मंत्री के सामने कुंडेश्वरी चौकी इंचार्ज अर्जुन गिरी से जमकर गाली गलौच

सूचना मिलते ही अरविंद पांडे मौके पर पहुंच गए और खनन कारोबारियों के साथ कुंडेश्वरी चौकी आ धमके। जहां खनन कारोबारियों ने कैबिनेट मंत्री के सामने कुंडेश्वरी चौकी इंचार्ज अर्जुन गिरी से जमकर गाली गलौच की। यही नहीं खनन कारोबारी चौकी इंचार्ज से धक्का-मुक्की करने से पीछे नहीं हटे। गुस्साए खनन कारोबारियों से चौकी इंचार्ज अर्जुन गिरी ने भाग कर अपने कार्यालय में छुप कर अपनी जान बचाई। घटना की सूचना मिलते ही पुलिस के आला अधिकारी मौके पर पहुंचे और मामले को शांत किया।

बता दें चुनाव आचार संहिता के चलते भारी मात्रा में खनन कारोबारी अचानक चौकी आ धमके और पुलिस के खिलाफ जमकर नारेबाजी भी की। जिससे चुनाव आचार संहिता का खुलेआम उल्लंघन होता दिखाई दिया। वहीं कैबिनेट मंत्री अरविंद पांडे ने इस मामले को छोटा सा बता कर रफा-दफा कर दिया।

काशीपुर एएसपी जगदीश चंद्र ने बताया कि इस मामले की पूरी जांच की जा रही है और जांच की रिपोर्ट आने के बाद ही कोई वैधानिक कार्यवाही की जाएगी। साथ ही उन्होंने यह भी बताया कि चुनाव आचार संहिता का खनन कारोबारियों द्वारा उल्लंघन किया गया है जिसके लिए उच्चाधिकारियों से भी वार्ता कर ली गई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here