बजट से पहले मिला राज्य में बिजली उपभोक्ताओं को तोहफा, जानिए किसे मिली राहत

देहरादून-
अभी नए वित्तीय वर्ष का बजट सदन में नहीं रखा गया है लेकिन उत्तराखंड में बिजली उपभोक्ताओं को पहले ही विद्युत नियामक आयोग ने राहत देने का ऐलान किया है।
राज्य में बिजली उत्पादन और वितरण से जुड़े महकमों के नए टैरिफ प्रस्ताव पर आज(बुधवार) को राज्य विद्युत नियामक आयोग ने सहमति की मुहर लगा दी है।  बिजली की नई दरें अप्रैल महीने से राज्य भर में लागू हों जाएंगी।
गौरतलब है कि यूपीसीएल, यूजेवीएनएल, पिटकुल और एसएलडीसी ने वितरण, उत्पादन और पारेषण का टैरिफ प्रस्ताव विद्युत नियामक आयोग को दिया था।
यूपीसीएल ने बिजली के दामों में तकरीबन 13 फीसदी बढ़ोत्तरी का प्रस्ताव विद्युत नियामक आयोग को दिया था। जिस पर आयोग ने जन सुनवाई कर सुझाव मांगे थे। साथ ही बिजली की दरों में इजाफे के प्रस्ताव पर ऊर्जा निगमों से भी राय ली थी। इसके बाद आयोग ने नई दरों का एेलान किया है।
विद्युत नियामक आयोग के नए फैसले के बाद अब राज्य में घरेलू बिजली के उन उपभोक्ताओँ को बड़ी राहत मिली है जिनकी बिजली की खपत कम है। 100 यूनिट खपत करने वाले उपभोक्ताओँ को पहले की तरह तीन रुपए बीस पैसे प्रति यूनिट की दर से बिजली का बिल भुगतान करना पड़ेगा।वहीं  101 से 200 यूनिट तक 3.45 रुपए प्रति यूनिट पर बिजली मिलेगी। जबकि पहले यह कीमत 3. 48 रुपए थी।
लेकिन जिन घरों में बिजली की खपत ज्यादा है उन्हे बिजली के बढ़े हुए दाम चुकाने होंगे। नए टेरिफ के मुताबिक 201 से 300 यूनिट तक खपत करने वाले घरों को पहेल के मुकाबले तीन पैसे प्रति यूनिट ज्यादा बिजली के दाम चुकाने होंगे। ऐसे घरों में अब 4. 05 रुपए प्रति यूनिट बिजली मिलेगी। जबकि पहले यह कीमत 4.02 रुपए थी। वहीं 301 से 400 यूनिट खपत पर 4.21 रुपए में बिजली मिलेगी। पहले यह कीमत 4.25 रुपए थी। वहीं 401 यूनिट से ऊपर बिजली की खपत पर 4.21 रुपए पर बिजली मिलेगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here