नड्डा की जनसभा से टूट सकता है चुनाव आयोग का नियम, हजार की अनुमति में हजारों की भीड़ जुटने की उम्मीद

देहरादून :  उत्‍तराखंड विधानसभा चुनाव के दृष्टिगत भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा और केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी के उत्तराखंड दौरे तय हो गए हैं। जेपी नड्डा का दो दिवसीय दौरा तय हुआ है। जेपी नड्डा 6 फरवरी को उत्तरकाशी आएंगे और इसके बाद सहसपुर और डोईवाला जाकर प्रत्याशियों के लिए वोट की अपील करेंगे। वहीं नितिन गडकरी 7 फरवरी को देहरादून में भाजपा के दृष्टिपत्र को जनता को समर्पित करेंगे।

जानकारी के लिए आपको बता दें कि कोरोना के मद्देनजर चुनाव आयोग ने रैली में 1000 लोगों के ही शामिल होने की अनुमति दी है लेकिन भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष आ रहे हैं और भाजपा को भीड़ दिखानी भी है क्योंकि कम भीड़ भाजपा की शान के खिलाफ है तो भीड़ को जुटाकर राष्ट्रीय अध्यक्ष को प्रभावित भी करना है और प्रभाव भी दिखाना है ताकि वोटर को भी प्रभावित किया जा सके और अन्य पार्टियों को डर दिखाया जा सके। जेपी नड्डा के दौरे को देखते हुए भारी भीड़ जुटने की संभावना है। समर्थकों की भीड़ जुटने की संभावना है।

ऐसे में जेपी नड्डा की जनसभा से चुनाव आयोग का नियम टूट सकता है क्योंकि हजार की अनुमति में हजारों की भीड़ जुटने की उम्मीद जताई जा रही है। ऐसे में भाजपा कैसे मैनेज करेगी। कम भीड़ हुई तो राष्ट्रीय अध्यक्ष की रैली फ्लॉप साबित होगी और अगर ज्यादा हुई तो चुनाव आयोग का चाबुक चलेगा। नियम का उल्लंघन हुआ तो चुनाव आयोग भाजपा पर क्या एक्शन लेगा ये देखने वाली बात है। लेकिन अब तक देखा गया है कि अगर अन्य राजनीतिक दलों ने नियम का उल्लंघन किया है या तो उन्हें नोटिस जारी हुआ है या नेताओं के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here