कोरोना के कहर के चलते कई देशों में भारतीयों की एंट्री पर बैन, जानिए कहां प्रतिबंध-कहां स्वागत?

भारत में कोरोना ने कोहराम मचा रखा है। आंकड़े डरा देने वाले हैं। इन आंकड़ों से पूरी दुनिया वाकिफ है कि भारत में संक्रमण कितने तेजी से फैल रहा है और कितना घातक है। वहीं इसी को देखते हुए कई देशों ने भारत से आने वाले यात्रियों की एंट्री बैन कर दी है। साथ ही कई देश फ्लाइट पर बैन लगा रहे हैं. जी हां बता दें कि हांगकांग ने रविवार को भारत से आने वाली उड़ानों पर रोक लगा दी. वहीं, ओमान ने भी भारत के यात्रियों के लिए एडवाइजरी जारी की है. इन मुल्कों में इस बात को लेकर भी सरकार पर दबाव बनाया जा रहा है कि वे कोरोना से बुरी तरह प्रभावित देशों से आने वाली फ्लाइट्स पर बैन लगाएं.

इन देशों में भारत से आने वाले यात्रियों की एंट्री बैन

हांगकांग: हांगकांग सरकार ने भारत से आने वाली फ्लाइट्स पर 20 अप्रैल से लेकर तीन मई तक रोक लगा दी है. बताया गया है कि भारत में कोरोना के बढ़ते मामलों की वजह से ये फैसला लिया गया है. इसके अलावा, पाकिस्तान और फिलीपींस से आने वाली फ्लाइट्स पर भी रोक लगाई गई है. बता दें कि हांगकांग के नियमों के तहत वहां पहुंचने पर यात्री को यात्रा से 72 घंटे पहले करवाए गए कोविड आरटी-पीसीआर टेस्ट की निगेटिव रिपोर्ट दिखाना है.

ओमान: नई दिल्ली में स्थित ओमान के दूतावास ने अपने नागरिकों को भारत यात्रा नहीं करने की सलाह दी है. इसने कहा है कि जब तक बेहद आवश्यक न हो, तब तक भारत की यात्रा करने से बचें. ओमान की तरफ से ये फैसला तब लिया गया है, जब भारत में दो लाख से कोविड मामले रिपोर्ट किए गए हैं. हालांकि, भारत से लोग ओमान जा सकते हैं, क्योंकि सरकार ने ओमान संग एयर बबल समझौता किया हुआ है.

ब्रिटेन: यूके के एक शीर्ष वैज्ञानिक ने मांग की है कि ब्रिटेन सरकार को भारत को ‘रेड लिस्ट’ में शामिल करना चाहिए, क्योंकि वहां कोरोना का नया वेरिएंट मिला है. इंपीरियल कॉलेज ऑफ लंदन के प्रोफेसर डैनी ऑल्टमैन ने कहा कि ये वेरिएंट बेहद ही खतरनाक हो सकता है, इसलिए सरकार को भारत को रेड लिस्ट में शामिल करना चाहिए. बता दें कि ब्रिटेन ने भारत संग एयर बबल समझौता किया हुआ है.

सऊदी अरब: किंगडम ऑफ सउदी अरब ने 3 फरवरी को भारत समेत 20 देशों से आने वाले लोगों पर बैन लगा दिया. सऊदी अरब ने कहा कि ये बैन इसलिए लगाया गया है, ताकि कोरोना से ठीक तरह से निपटा जा सके. ऐसे में अभी भारत से सऊदी अरब जाने वाली उड़ानें बंद हैं.

न्यूजीलैंड: देश की प्रधानमंत्री जेसिंडा अर्डर्न ने 8 अप्रैल को भारत से आने वाले यात्रियों पर रोक लगाई. इसमें देश के अपने नागरिक भी शामिल होंगे. ये प्रतिबंध 11 अप्रैल से लेकर 28 अप्रैल तक जारी रहेगा. उन्होंने कहा कि भारत में बढ़ते कोरोना मामलों के मद्देनजर ये निर्णय लिया गया है.

पाकिस्तान : कोरोना के कहर को देखते हुए पाकिस्तान मेें भी भारत के यात्रियों की एंट्री बैन कर दी है। पाकिस्तान ने भारत से यात्रा पर दो सप्ताह की रोक लगाई है. पाकिस्तान सरकार ने सोमवार को नए वैरिएंट का हवाला देते हुए कहा कि अगले दो सप्ताह तक वायु और सड़क मार्ग के जरिए भारत से यात्री पाकिस्तान नहीं आ पाएंगे.

भारत ने दुनिया के 28 देशों के साथ एयर बबल समझौता किया हुआ है. इन समझौतों में सबसे नवीनतम समझौता श्रीलंका से किया गया है. नागरिक उड्डयन मंत्रालय ने शनिवार को बताया कि श्रीलंका संग द्विपक्षीय एयर बबल समझौता किया है. दो देशों के बीच एक एयर बबल समझौते के तहत, विशेष अंतरराष्ट्रीय यात्री उड़ानें कुछ प्रतिबंधित नियमों के तहत एक-दूसरे के क्षेत्र में संचालित की जा सकती हैं.अफगानिस्तान, बांग्लादेश, भूटान, बहरीन, कनाडा, इथियोपिया और फ्रांस संग भारत ने एयर बबल समझौता किया हुआ है. इसके अलावा, जर्मनी, इराक, जापान, केन्या, कुवैत, मालदीव नेपाल संग भी ये समझौता किया गया है. भारत सरकार नीदरलैंड, नाइजीरिया, ओमान, कतर, रूस, रवांडा और सेशेल्स के साथ भी एयर बबल समझौता किया. श्रीलंका के साथ-साथ अब तंजानिया, यूएई, ब्रिटेन, यूक्रेन, अमेरिका और उज्बेकिस्तान के साथ ही भारत सरकार ने ये समझौता किया है. वर्तमान में भारतीय नागरिक इन देशों की यात्रा कर सकते हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here